अमेरिका में पुलिसकर्मी के द्वारा हुई अश्वेत की मौत पर करीब 20 शहरों में हो रहे प्रदर्शन।

ह्यूस्टन पुलिस विभाग के मुताबिक, प्रदर्शन में चार पुलिस अफसर जख्मी हुए हैं और आठ वाहनों को नुकसान हुआ है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : ओम तिवारी : अमेरिका में पुलिस कर्मी द्वारा अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की हुई मौत पर दंगे भड़कते ही जा रहे हैं। देश के लगभग 20 शहरों में प्रदर्शन हो रहे हैं। टेक्सास राज्य के ह्यूस्टन में शुक्रवार की रात करीब 200 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, प्रदर्शन के दौरान डेट्रॉयट में 19 साल की युवक की गोली लगने से मौत हो गई। पोर्टलैंड में प्रशासन ने दंगे की स्थिति घोषित कर दी है। मिनेपोलिस में 50 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और प्रदर्शन को शांत कराने के लिए 2500 अफसरों को तैनात किया गया है।
ह्यूस्टन पुलिस विभाग के मुताबिक, प्रदर्शन में चार पुलिस अफसर जख्मी हुए हैं और आठ वाहनों को नुकसान हुआ है। कई पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिसकर्मियों पर अस्पतालों में भी हमले किए गए। कई दुकानों को आग के हवालले कर दिया गया।
डेट्रायट में प्रदर्शन के दौरान अज्ञात व्यक्ति की गोली से 19 साल के एक युवक की जान चली गई। पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है कि युवक प्रदर्शन का हिस्सा था या नहीं। लेकिन, जहां गोली चली वहां प्रदर्शन हो रहे थे। यहां एक अधिकारी पर हमला करने के दौरान एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है।
मिनेपोलिस में स्थिति खतरनाक बनी हुई है। शहर में प्रदर्शन जारी है। मिनेसोटा के गवर्नर टिम वाल्ज ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि राज्य के इतिहास में यह लोगों द्वारा किया जा रहा अब तक का सबसे बड़ा प्रदर्शन है।
अटलांटा में सीएनएन सेंटर के बाहर प्रदर्शनकारियों ने शुक्रवार रात पुलिस पर कांच, पटाखे और ईंट से हमला किया। यहां पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच काफी तनाव देखने को मिली। हमले में दो पुलिस अफसर घायल हो गए।
डलास के मेयर एरिक जॉनसन ने जॉर्ज फ्लॉयड की मौत पर प्रदर्शनकारियों का समर्थन करते हुए न्याय की मांग की है। साथ ही उन्होंने शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की बात कही है। उन्होंने ट्विटर पर कहा- कछ लोग संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं।
तस्वीर डेनवर शहर की है। यहां पुलिस हमले के बाद प्रदर्शनकारी भागते हुए नजर आए।
व्हाइट हाउस के बाहर शुक्रवार को सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन किया
वॉशिंगटन स्थित व्हाइट हाउस के बाहर भी शुक्रवार को करीब सैकड़ों लोगों ने प्रदर्शन किया, जिसके बाद इसे बंद कर दिया गया है। वहीं, अश्वेत व्यक्ति की मौत में शामिल मिनेपोलिस के एक पुलिस अफसर पर थर्ड-डिग्री हत्या का आरोप लगाया गया है। हेनेपिन काउंटी के अटॉर्नी माइक फ्रीमैन ने ये जानकारी दी।
मिनेसोटा राज्य के मिनेपोलिस शहर में दंगे भड़क गए हैं। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस स्टेशन को तोड़फोड़ के बाद आग के हवाले कर दिया। कुछ जगहों पर लूटपाट हुई। हालात बिगड़ते देख गवर्नर टिम वॉल्ज ने इमरजेंसी लगा दी। न्यूयॉर्क में पुलिस विरोधी प्रदर्शन हुए। इस दौरान कई लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। उधर, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दंगाइयों को चेतावनी दी। कहा- अगर लूटपाट हुई तो हमारी तरफ से गोलियां चलेंगी। फिलहाल अमेरिका के कई शहर इस मुद्दे के कारण हिंसा की भेंट चढ़ रह हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.