दिल्ली हिंसा: ताहिर हुसैन के काले कारनामों से उठने लगा पर्दा, सामने आए कई राज

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : सांप्रदायिक हिंसा में मारे गए आइबी के सिपाही अंकित शर्मा की हत्या के आरोपित आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन के काले कारनामों से अब पर्दा उठने लगा है। पुलिस के हाथ 24 फरवरी की सीसीटीवी फुटेज लगी हैं, जिसमें वह 15 से ज्यादा दंगाइयों के साथ चांदबाग पुलिया स्थित किलेनुमा घर से बाहर निकलते और घुसते हुए दिखाई दे रहा है, इन सभी के हाथ में पिस्टल भी है। यही नहीं उसके पीछे सैकड़ों की संख्या में युवक लाठी-डंडे व तबाही का सामान लेकर चलने की फुटेज भी सामने आई है। ताहिर हुसैन जामिया व उसके पासपास के इलाके में छिपा हुआ बताया जा रहा है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक ताहिर के साथ पिस्टल लिए दिखने वाले सभी युवकों की पहचान कर ली गई है। उन सभी युवकों के भी मोबाइल 26 फरवरी से लगातार बंद आ रहे हैं। ताहिर हुसैन 26 फरवरी से ही परिवार समेत फरार है। उसके दोनों घरों में ताला जड़ा हुआ है। परिवार के सभी सदस्यों के मोबाइल बंद हैं। ताहिर के साथ पिस्टल लेकर वीडियो में कैद युवकों के परिजन भी परिवार समेत फरार हैं। उनकी भी तलाश की जा रही है। वीडियो में युवकों द्वारा गोलियां चलाते हुए तस्वीरें भी कैद हो गई हैं। उक्त वीडियो को पुलिस ने गोपनीय रखा हुआ है। आइबी के सिपाही अंकित शर्मा हत्याकांड में पुलिस को यह बड़ा सुबूत मिल गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि ताहिर हुसैन को सजा से बचा पाना मुश्किल हो सकता है।मंगलवार को करीब 1000 पुलिसकर्मियों के साथ कई डीसीपी स्तर के अधिकारियों ने चांदबाग के आसपास ताहिर हुसैन के छह संभावित ठिकानों पर दबिश दी थी, लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिली। दबिश में स्पेशल सेल व क्राइम ब्रांच के भी कई अधिकारी शामिल थे। दिल्ली पुलिस अब जामिया व ओखला के आसपास इलाके में दबिशें देगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.