कोरोना वायरस: गोवा में चीनी प्रतिनिधिमंडल की यात्रा पर रोक, चीन में 811 लोगों की मौत

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर गोवा में चीनी प्रतिनिधिमंडल की यात्रा को रोक दिया गया है। राज्य के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। बता दें कि चीन में कोरोना वायरस से 811 लोगों की मौत हो गई है। वहीं 37,000 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं। ट्रैवल एंड टूरिज्म एसोसिएशन ऑफ गोवा (टीटीएजी) के अध्यक्ष सवियो मेसियस ने रविवार को बताया कि प्रतिनिधिमंडल में चीन के फोटोग्राफर, मॉडल, ऑनलाइन और ऑफलाइन बुकिंग विशेषज्ञ और मार्केटिंग रणनीतिकार शामिल थे। चीन में कोरोनोवायरस के प्रकोप के बाद वर्तमान स्थिति को देखते हुए उनकी यात्रा को रोक दिया गया है। मेसियस ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल चीनी सैलानियों को आकर्षित करने के लिए गोवा पर्यटन उद्योग हितधारकों के एक मार्केटिंग स्ट्रेटजी का हिस्सा था। विमान की व्यवस्था करने में विफलता ने बांग्लादेश सरकार को कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच चीन से बाकी 171 नागरिकों को वापस लाने की अपनी योजना को रद करने के लिए मजबूर कर दिया है। समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार विदेश मंत्री एके अब्दुल मोमन ने ढाका में एक कार्यक्रम के बाद शनिवार को इसकी मीडिया को जानकारी दी। इससे पहले 1 फरवरी को बांग्लादेश 312 नागरिकों को चीन से वापस लेकर आया था। फिलीपींस के तीस लोगों को चार्टर्ड विमान से चीन के वुहान शहर से वापस लाया गया है। इनमें एक नवजात भी शामिल है। देश के विदेश मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी। विमान में सवार सभी लोगों और विदेश और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को 14 दिनों तक निगरानी में रखा जाएगा।यात्रियों और 10-सदस्यीय सरकारी टीम को विमान से उतरने के बाद बसों से टारलैक प्रांत के न्यू क्लार्क सिटी के नजदीकी एथलीट विलेज में ले आया गया। हुबेई में लगभग फिलीपींस के 300 लोग मौजूद हैं। फिलीपींस ने देश में कोरोनोवायरस संक्रमण के तीन मामलों की पुष्टि हुई है। इसमें एक 44 वर्षीय चीनी व्यक्ति भी शामिल है, जो वुहान से यात्रा करके वापस लौटा था और मनीला के एक सरकारी अस्पताल में उसकी मृत्यु हो गई थी। 230 संदिग्ध मरीज को निगरानी में रखा गया है। कटक में चिकित्सा संस्थान के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि ओडिशा के संदिग्ध कोरोनो वायरस के रोगियों में इसकी पुष्टि नहीं हई है और कटक के एक राजकीय अस्पताल से उन्हें छुट्टी दे दी गई है। उन्होंने कहा कि इससे पहले, अस्पताल में भर्ती दो मेडिकल छात्रों में इसकी पुष्टि नहीं हुई थी।  कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 2003 में फैले सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Severe Acute Respiratory Syndrome) को पार कर गया है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार, एसएआरएस के कारण 26 देशों में 9 महीने के दौरान 774 लोगों की मौत हुई थी। शनिवार के अंत तक, हांगकांग के विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एसएआर) में एक मौत के साथ 26 मामलों की पुष्टि हुई है। मकाओ एसएआर 10 और ताइवान में 17 मामलों की पुष्टि हुई है। मकाओ और ताइवान को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) के अनुसार 15 जनवरी, 2020 को या उसके बाद चीन जाने वाले विदेशियों को भारत-नेपाल, भारत-भूटान, भारत-बांग्लादेश या भारत-म्यांमार भूमि सहित किसी भी हवाई, भूमि या बंदरगाह से भारत सीमाओं में प्रवेश करने की अनुमति नहीं है। चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि उन्हें शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण से 89 मौतों और 2,656 नए पुष्ट मामलों की रिपोर्ट मिली। मरने वालों में हुबेई प्रांत में 81 लोगों की मौत हुई, जबकि, दो हेनान में और एक हेबै, हेइलोंगजियांग, अनहुई, शेडोंग, हुनान और गुआंग्शी ज़ुआंग स्वायत्त क्षेत्र में मौत हुई। आयोग ने कहा कि शनिवार को 3,916 नए संदिग्ध मामले सामने आए। शनिवार को 87 मरीज गंभीर रूप से बीमार हो गए, जबकि 600 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। शनिवार के अंत तक चीन में कुल पुष्टि के मामले 37,198 तक पहुंच गए। इससे मरने वालों की संख्या 811 हो गई। समाचार एजेंसी आइएएनएस के अनुसार आयोग ने कहा कि 6,188 मरीज गंभीर स्थिति में हैं और 28,942 लोगों को वायरस से संक्रमित होने का संदेह है। ठीक होने के बाद कुल 2,649 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। आयोग ने कहा कि 31,124 को शनिवार को चिकित्सा निगरानी से छुट्टी दे दी गई, जबकि, 1,88,183 लोग अभी भी चिकित्सा निगरानी में हैं। कोरोना वायरस का पहला मामला दिसंबर के अंत में चीन के वुहान शहर में पाया गया था। इसके बाद से यह 25 से अधिक देशों में मामले समाने आए। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने प्रकोप के मद्देनजर वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित किया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com