रणजी ट्रॉफी: क्रिकेट इतिहास का अनोखा रिकॉर्ड, डेब्यू मैच में रवि यादव ने पहले ही ओवर में ली हैट्रिक

रणजी मुकाबले में रवि यादव ने वो कारनामा कर दिया है, जो आजतक कोई गेंदबाज नहीं कर पाया है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): इंदौर में मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के बीच खेले जा रहे रणजी मुकाबले में रवि यादव ने वो कारनामा कर दिया है, जो आजतक कोई गेंदबाज नहीं कर पाया है। रणजी ट्रॉफी में रवि यादव का यह डेब्यू मैच था। मध्य प्रदेश के पेसर ने अपने पहले मैच के पहले ही ओवर में हैट्रिक लेकर रणजी क्रिकेट में एक नया इतिहास रच दिया है। उत्तर प्रदेश के खिलाफ इंदौर के होल्कर स्टेडियम में उन्होंने पांच विकेट लिए। चोटों की वजह से 28 वर्षीय रवि यादव को डेब्यू करने में समय लगा। लेकिन पहले ही ओवर में उन्होंने आर्यन जुयाल, अंकित राजपूत और समीर रिजवी की विकेट लेकर हैट्रिक बनाई। रवि यादव ने तीसरी गेंद पर विकेटों का खाता खोला। रवि यादव की गेंद पर आर्यन जुयाल 13 रन बनाकर  अजय रोहेरा द्वारा कैच आउट हो गए। इसके बाद दो लगातार गेंदों पर उन्होंने अंकित राजपूत और समीर रिजवी को आउट कर दिया। अंकित और समीर दोनों ही रवि यादव की गति से चकमा खाकर बोल्ड आउट हुए। इससे पहले मध्य प्रदेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 230 रन बनाए। यश दुबे ने हाफ सेंचुरी बनाई। इस मैच में नौवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए सौरभ कुमार की 98 रन की नाबाद पारी खेल उत्तर प्रदेश को मुश्किल स्थिति से बाहर निकाला, जिन्होंने टीम मध्य प्रदेश की पहली पारी में 230 रन के जबाब में 216 रन बना सकी। दिन का खेल खत्म होने तक मध्य प्रदेश ने दूसरी पारी में तीन विकेट पर 105 रन बना ली थी, जिससे उनकी कुल बढ़त 119 रन की हो गई थी  उत्तर प्रदेश ने दिन की शुरुआत तीन विकेट पर 22 रन से की लेकिन रवि यादव (61 रन पर पांच विकेट) और गौरव यादव (73 रन पर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी के सामने टीम ने 46 रन पर सातवां विकेट गंवा दिया। इसके बाद रिंकू सिंह (53) और सौरभ कुमार ने आठवें विकेट के लिए 87 रन की साझेदारी की। इस साझेदारी के टूटने के बाद सौरभ ने पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ टीम के स्कोर को 216 रन तक पहुंचाया, लेकिन वह प्रथम श्रेणी में अपना तीसरा शतक लगाने से चूक गए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.