सऊदी अरब ने विदेशों में मस्जिदों के लिए धन देना किया बंद

सऊदी अरब ने अब दुनिया भर में अपनी साख और छवि को बचाने और बनाने के लिए उठा लिया है एक बड़ा कदम। सऊदी सरकार का फैसला है कि अब वो दुनिया भर की मस्जिदों को भेजे जाने वाले पैसे को रोक देगा।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : अब तक दुनिया भर में होने वाले तमाम आतंकी हमलों से ले कर मजहबी चरमपंथ से जुडी घटनाओं में सऊदी अरब का नाम कहीं न कहीं से आया करता था. कई बड़े दुर्दांत आतंकी सऊदी मूल के निकले जिसमे संसार का अब तक का सबसे बड़ा और कुख्यात आतंकी ओसामा बिन लादेन भी शामिल है. इसके साथ सऊदी उलेमाओं की वीडियो आदि को देख कर कई स्थानों पर चरमपंथ को बढ़ावा मिला बताया जाता रहा. इसी के साथ वहाबी सोच को बढाने के लिए भी सऊदी अरब चर्चा में रहा. इस समय वही सऊदी अरब यमन से युद्ध कर रहा है जिसमे उसको न सिर्फ जन की बल्कि धन की भी भारी हानि उठानी पड़ रही है. इतना ही नहीं वही सऊदी अरब एक बड़े बदलाव से गुजर रहा है जहाँ महिलाओं को वो तमाम अधिकार वापस मिल रहे हैं जिसके लिए वहां की महिलाएं लम्बे समय से प्रयासरत थीं. इसी में प्रमुख हैं महिलाओं को सिनेमाघरों में जाने की अनुमति मिलना, महिलाओं को खेल के मैदान में जाने की अनुमित मिलना और महिलाओं को वाहन चलाने की भी अनुमति मिलना. अपने खुद के देश में आमूलचूल बदलाव कर रहे सऊदी अरब ने अब दुनिया भर में अपनी साख और छवि को बचाने और बनाने के लिए उठा लिया है एक बड़ा कदम. सऊदी सरकार का फैसला है कि अब वो दुनिया भर की मस्जिदों को भेजे जाने वाले पैसे को रोक देगा. अर्थात सऊदी सरकार से मस्जिदों को जाने वाला अनुदान अथवा डोनेशन अब रोक दी जायेगी. सऊदी अरब के पूर्व न्याय मंत्री, मोहम्मद बिन अब्दुल-करीम इस्सा ने घोषणा की है कि उनका देश विदेश में मस्जिदों को धन देना बंद कर देगा. इस फैसले का तमाम देशो में स्वागत किया जा रहा.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.