देशद्रोह का आरोपी JNU छात्र शरजील इमाम जहानाबााद सेे गिरफ्तार

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : जवाहरलाल नेहरू विश्‍वविद्यालय के छात्र शरजील इमाम को दिल्‍ली पु‍लिस ने बिहार के जहानाबााद सेे मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। इसके पहले पुु‍लिस ने उसके भाई व एक दोस्‍त को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। अब दिल्‍ली पुु‍लिस उसे जहानाबाद कोर्ट में पेशी के बाद ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली ले जाएगी। शरजील पर देशद्राही बयान (Anti National Statement) देने के आरोप मेें दिल्‍ली सहित छह राज्‍यों मेंं मुकदमे दर्ज हैंं। शरजील के परिवार का बड़ा राजनीतिक कनेक्‍शन (Political Connection) भी रहा है। शरजील ने अपने एक भाषण में असम समेत पूरे उत्तर-पूर्व भारत (North Eastern India) को शेष भारत से काटने की बात कही थी। इसका वीडियो (Video) वायरल (Viral) होने के बाद उसके खिलाफ देशद्राह (Treason) तथा धर्म के आधार पर वैमनस्‍यता को बढ़ावा देने सहित अनेक गंभीर आरोपों में छह राज्‍यों में एफआइआर (FIR) दर्ज किए गए हैं। शरजील की गिरफ्तारी को लेकर मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि देश के खिलाफ कोई भी कदम बर्दाश्‍‍‍त नहींं किया जा सकता। इस मामले मेें कानून अपना काम करेगा।शरजील इमाम की तलाश क्राइम ब्रांच ने पांच टीमें कर रहीं थींं। उसके खिलाफ छह राज्यों में देशद्रोह के मुकदमे दर्ज किए जा चुके हैं। उसके खिलाफ बिहार, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, असम, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश की पुलिस ने एफआईआर दर्ज किए हैं। शरजील की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बिहार के साथ मुंबई व दिल्‍ली में भी छापेमारी कर रही थी। उसके नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए बिहार-नेपाल सीमा पर भी अलर्ट जारी कर दिया गया था। रेलवे स्‍टेशन व एयरपोर्ट पर भी पुलिस सतर्क रही। ले‍किन वह अपनेे पैतृृृक शहर जहानाबाद में दिल्‍ली पु‍लिस के हत्‍थे चढ़ा। जानकारी के अनुसार शरजील को जहानाबाद के काको थाना क्षेत्र स्थित एक मस्जिद से गिरफ्तार किया गया। फिलहाल उसे जहानाबाद के एक थाने में रखा गया है। आगे उसे जहानाबाद कोर्ट में पेशी के बाद ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली पुलिस अपने साथ ले जाएगी। इस बीच शरजील की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बिहार स्थित उसके पैतृक आवास पर सोमवार की रात भी छापेमारी करने पहुंची। छापेमारी में शरजील नहीं मिला तो पुलिस ने उसके भाई मुजम्मिल और उसके एक दोस्‍त को हिरासत में ले लिया। बताया जाता है कि उनसे पूछताछ मेें शरजील के अहम सुराग मिले। इस बीच शरजील के मामले में जेएनयू प्रशासन के कड़ा रूख अपनाया है। जेएनयू के प्रॉक्टर ने शरजील को समन जारी कर देशद्रोह के आरोपों को लेकर तीन फरवरी तक स्‍पष्‍टीकरण मांगा है। शरजील बिहार के जहानाबाद (Jehanabad) का मूल निवासी है। उसके पिता अकबर इमाम (Akbar Imam) सत्‍ताधारी जनता दल यूनाइटेड (JDU) के नेता रहे थे। अकबर इमाम जेडीयू के टिकट पर जहानाबाद से विधानसभा चुनाव (Assembly Election) भी लड़े थे। शरजील का एक छोटा भाई भी है, जिसके जहानाबाद से पूर्व सांसद (Ex MP) अरुण कुमार (Arun Kumar) से निकट संबंध हैं। वह पूर्व सांसद के साथ ही रहता है। शरजील के चाचा अरशद इमाम पूरे मामले को राजनीतिक चश्‍मे से देख रहे हैं। वे कहते हैं कि दिल्‍ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में लाभ लेने के लिए उनके भतीजे के खिलाफ साजिश रची गई है। 40 मिनट के वीडियो को कुछ मिनट में समेट कर अधूरी बात रखी जा रही है। शरजील की मां भी बेटे को निर्दोष मानती हैं। वे कहती हैं कि उनके परिवार को देश के संविधान पर भरोसा है। 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.