कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की मौजूदगी में ही मेरठ में आपस में भिड़े कांग्रेसी कार्यकर्ता।

सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस से झड़प के दौरान जख्मी और मृतक के परिजन से मिलने प्रियंका गांधी शनिवार को मेरठ पहुंचीं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : कांग्रेस मे बिखराव को संभाल पाने में शीर्ष नेतृत्व भी कामयाब नहीं हो पा रहा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस की कार्रवाई को लेकर योगी सरकार को घेरने की कोशिश में जुटी हुई हैं, लेकिन अपने ही कार्यकर्ताओं पर वह नियंत्रण नहीं रख पा रही हैं। इसकी बानगी मेरठ में देखने को मिली, जहां प्रियंका के सामने ही कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए।
सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस से झड़प के दौरान जख्मी और मृतक के परिजन से मिलने प्रियंका गांधी शनिवार को मेरठ पहुंचीं। यहां उन्होंने हिंसा प्रभावित लोगों से मुलाकात की। इस क्रम में वह परतापुर इलाके में एक पीड़ित के घर पर गईं, जहां कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता पहले बहस करते रहे और फिर नौबत धक्कामुक्की तक आ पहुंची। इस दौरान प्रियंका वहीं पर मौजूद थीं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शनिवार को मुजफ्फरनगर के बाद मेरठ में परतापुर स्थित साईं कॉलोनी में पहुंचीं और सीएए विरोधी प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों के परिजन से मुलाकात की। प्रियंका से मुलाकात के दौरान पीड़ित परिजन ने कहा कि उन्हें परेशान किया जा रहा है। प्रियंका ने पीड़ितों को भरोसा दिलाया कि वो हमेशा उनके साथ खड़ी हैं। उन्होंने परिवार को हर संभव मदद का भी भरोसा दिलाया। पूरे उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा के सवाल पर प्रियंका ने कहा, ‘मैंने राज्यपाल को एक बहुत लंबी चिट्ठी भेजी है। उसमें पूरी डिटेल है। पुलिस ने लोगों को किस तरह से पीटा है। पुलिस ने बच्चों को भी जेल में डाला, जो बहुत गलत है।’ प्रियंका ने यहां पर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि बेगुनाह लोगों को बर्बरता से पीटा गया। मेरठ में मृतकों के परिजन ने प्रियंका से कहा कि उन्‍हें यहां परेशान किया जा रहा है। सभी ने कहा कि पुलिस गोली से सब मरे हैं। उनकी शिकायत पुलिस दर्ज नहीं कर रही। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट तक नहीं दे रही। दूसरे बेगुनाहों को पुलिस परेशान कर रही हैं। जेल भेजने की धमकी दी रहे ही। प्रियंका ने आश्‍वासन देते हुए कहा, ‘मैं हर दुख सुख में आपके साथ हूं। पुलिस ज्यादतियों की मुझको खबर है।’ प्रियंका ने मेरठ में मारे गए मृतक लोगों में से एक के बच्चे को गोद में लेकर कहा, ‘इसको प्यार दें, बड़े ओहदे पर पहुंचाएं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.