व्हिसलब्लोअर ने इन्फोसिस सीईओ सलिल पारेख के खिलाफ की शिकायत: कहा- पारेख का मुंबई में रहना गलत।

व्हिसलब्लोअर ने इन्फोसिस के चेयरमैन नंदन निलेकणि और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के नाम लिखे बिना तारीख वाले पत्र में सवाल किया है कि ऐसी क्या वजह है कि जो पारेख पर बेंगलुरु आने का दबाव बनाने से बोर्ड को रोक रही है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : इन्फोसिस सीईओ सलिल पारेख पर एक और व्हिसलब्लोअर ने आरोप लगाया है। शिकायत करने वाले ने कहा है कि पारेख को इन्फोसिस ज्वॉइन किए एक साल और आठ महीने हो चुके हैं, लेकिन वे मुंबई से ही काम कर रहे हैं। इस तरह वे सीईओ के बेंगलुरु में रहने की शर्त का उल्लंघन कर रहे हैं। व्हिसलब्लोअर ने इन्फोसिस के चेयरमैन नंदन निलेकणि और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के नाम लिखे बिना तारीख वाले पत्र में सवाल किया है कि ऐसी क्या वजह है कि जो पारेख पर बेंगलुरु आने का दबाव बनाने से बोर्ड को रोक रही है। व्हिसलब्लोअर ने खुद को इन्फोसिस के फाइनेंस डिपार्टमेंट का कर्मचारी बताया है। उसने लिखा- मैं अपना नाम नहीं बता सकता, क्योंकि ऐसा करने से मेरे खिलाफ बदले की कार्रवाई होने का डर है। एक कर्मचारी और शेयरधारक होने के नाते यह मेरा कर्तव्य है कि पारेख से संबंधित ऐसे तथ्य जिनसे कंपनी के मूल्यों को नुकसान हो रहा है, उनकी जानकारी चेयरमैन और बोर्ड को दी जाए। उम्मीद करता हूं कि आप इन्फोसिस की सच्ची विचारधारा को ध्यान में रखते हुए अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे। व्हिसलब्लोअर ने कहा है कि कंपनी को पारेख के लिए हर महीने 4 बिजनेस क्लास के एयर टिकट, मुंबई में घर से एयरपोर्ट तक ड्रॉपिंग, बेंगलुरु में एयरपोर्ट से पिकअप और ड्रॉप देना पड़ रहा है। वे महीने में 2 बार बेंगलुरु आते हैं। बता दें इस मामले में इन्फोसिस की प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। पारेख के खिलाफ दो महीने में दूसरी शिकायत सामने आई है। इससे पहले 20 सितंबर को कुछ कर्मचारियों ने पारेख और सीएफओ निलंजन रॉय पर मुनाफा बढ़ाने के लिए अनैतिक रास्ते अपनाने का आरोप लगाया था। पिछले महीने इन्फोसिस ने इस शिकायत की पुष्टि करते हुए कहा कि जांच की जा रही है। हालांकि, पिछले हफ्ते कहा कि व्हिसलब्लोअर के आरोपों के समर्थन में अभी तक कोई सबूत नहीं मिला। जांच पूरी होने पर प्रमुख तथ्यों के बारे में बताया जाएगा। न्यूज एजेंसी के मुताबिक व्हिसलब्लोअर ने पारेख पर शेयर बाजार कनेक्शन का भी आरोप लगाया है। शिकायतकर्ता का कहना है कि पारेख कई कंपनियों में निवेश कर रहे हैं। अपने निवेश की देख-रेख के लिए वे मुंबई में टिके हुए हैं। उन्हें टर्मिनेट किया जाना चाहिए।
इन्फोसिस का शेयर प्राइस (सोमवार को क्लोजिंग)
बीएसई पर : 0.56% गिरावट के साथ 704.50 रुपए
एनएसई पर : 0.71% गिरावट के साथ 703.10 रुपए
गुरुनानक जयंती के अवकाश की वजह से मंगलवार को शेयर बाजार बंद।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com