कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर का मोस्ट वांटेड आतंकी आसिफ ढेर

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के बाद आतंकियों के खिलाफ कई बड़ी कार्रवाई की गई है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों ने एनकाउंटर के दौरान लश्कर-ए-तैयबा के बड़े आतंकी आसिफ को मार गिराया है। यह जानकारी पुलिस सूत्रों के हवाले से दी गई है। लश्कर का आतंकी आसिफ हाल ही में सोपोर में एक फल व्यापारी के परिवार के तीन सदस्यों को गोली मारने और घायल होने के लिए जिम्मेदार था। घायलों में एक युवा लड़की अस्मा जान भी शामिल थी। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाए जाने के बाद आतंकियों के खिलाफ कई बड़ी कार्रवाई की गई है। जानकारी के अनुसार जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया है। सुरक्षाबलों को सुबह आतंकी के छिपे होने की खबर मिली थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने अभियान चलाया। इस दौरान लश्कर-ए-तैयबा के मोस्ट वांटेड आतंकी आसिफ को ढेर कर दिया गया। गौरतलब है कि आसिफ की पिछले कई दिनों से तलाश की जा रही थी। बता दें कि आसिफ ने हीं बीते दिनों सोपोर में एक घर पर आतंकवादी हमले किए थे जिसमें एक बच्ची सहित परिवार के चार सदस्य घायल हो गए थे। जानकारी के अनुसार, सोपोर में दो व्यक्ति धमकी देने के लिए एक प्रमुख फल व्यापारी हमीदुल्ला राथेर के घर गए थे और उन्हें घर में नहीं पा कर आतंकवादियों ने उनकी ढाई साल की पोती असमा जान सहित अन्य परिजन पर गोलियां चलाईं। गंभीर रूप से घायल बच्ची की हालत नाजुक बनी हुई है। इसके अलावा आसिफ ने सोपोर में ही एक मजदूर शफी आलम को भी गोली मार दी थी। जानकारी हो कि कल पुलिस ने आतंकियों के आठ साथियों को गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि इनका संबंध भी लश्कर-ए-तैयबा से था। कल [मंगलवार] को जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सोपोर में आतंकवादियों के आठ साथियों को गिरफ्तार किया था। ये लोग इलाके में पोस्टर छापकर आम लोगों को डराने-धमकाने की कोशिश कर रहे थे। इस मामले में पुलिस ने बताया कि सभी आतंकी दुकानदारों और आम लोगों में दहशत पैदा करने का काम कर रहे थे। कश्मीर के डीजीपी ने कहा था, पाक के आंतकवादी संगठन खासकर के लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन लोगों के ऊपर दबाव बना रहे हैं कि वह अपने दैनिक कार्यों को न करें। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया था कि यह सुनिश्चित किया गया है कि लोग जब अपनी दुकान खोलना चाहें तब वह खोल सकते हैं। उन्होंने बताया था कि सोपोर में तीन जैश-ए-मोहम्मद के सहयोगियों के बरे में खबर मिली थी जो पोस्टर जारी करके लोगों को डराने-धमकाने की कोशिश कर रहे थे। देर शाम सोपोर के एसएसपी जावेद इकबाल ने बताया था कि लश्कर ए तैयबा के टेरर मॉड्यूल को पकड़ने में कामयाबी मिली है। उन्होंने बताया था कि 8 लोगों को पकड़ा  है, जिनमें से अधिकांश का संबंध बराटकलां गाव, जबकि एक का डांगरपुरा गांव से संबंध है। जावेद इकबाल ने बताया कि आतंकियों और टेरर मॉड्यूल का मकसद लोगों को डराना होता है। जिन लोगों में पोस्टर का कोई खौफ नहीं है, उन्हें गोली-बंदूक से डराने का प्रयास करते हैं। जानकारी अनुसार यह पता चला है कि आठ आतंकवादी सहयोगी एजाज मीर, उमर मीर, तौसीफ नाजर, इम्तियाज नाजर, उमर अकबर, फैज लतीफ, दानिश हबीब और शोकातत अहमद मीर अपराध में शामिल थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com