बढ़ता प्रदूषण, कैसे कर रहा है आपके सेहत को प्रभावित ।

हवा में बढ़ते प्रदूषण के कारण न केवल वातावरण प्रभावित हो रहा है बल्कि इसका सीधा असर लोगो की सेहत पर भी देखने को मिल रहा है ।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : हवा में बढ़ते प्रदूषण के कारण न केवल वातावरण प्रभावित हो रहा है बल्कि इसका सीधा असर लोगो की सेहत पर भी देखने को मिल रहा है। पिछले 30 सालों के अध्‍ययन में 24 देशों और क्षेत्रों के 652 शहरों में वायु प्रदूषण और मृत्यु दर के आंकड़ों का विश्लेषण किया, जिसे न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित किया गया है।शोधकर्ताओं ने पाया कि कुल मौतों में वृद्धि, इनहेल करने योग्य कणों (PM10) और फाइन कणों (PM2.5) के संपर्क से जुड़ी है जो आग से उत्सर्जित होती हैं या वायुमंडलीय रासायनिक परिवर्तन के माध्यम से बनती हैं। ऑस्ट्रेलिया के मोनाश विश्वविद्यालय में प्रोफेसर युमिंग गुओ ने कहा, “चूंकि पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) और मृत्यु दर के बीच संबंध के लिए कोई सीमा नहीं है, यहां तक कि वायु प्रदूषण के निम्न स्तर से भी मौत का खवताव्तवान रा बढ़ सकता है। गुओ ने कहा “छोटे हवा के कण, और अधिक आसानी से वे फेफड़ों में गहराई से प्रवेश कर सकते हैं और मृत्यु के कारण अधिक विषाक्त घटकों को अवशोषित कर सकते हैं। हालांकि ऑस्ट्रेलिया में वायु प्रदूषण की सांद्रता अन्य देशों की तुलना में कम है, अध्ययन में पाया गया है कि ऑस्ट्रेलियाई वायु प्रदूषण के मामले में अधिक संवेदनशील हैं और इसके प्रतिकूल प्रभावों का प्रभावी ढंग से विरोध नहीं कर सकते हैं। गुओ ने यह भी कहा कि, स्वास्थ्य प्रभावों पर व्यापक सबूतों को देखते हुए, पीएम 10 और पीएम 2.5 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) वायु गुणवत्ता दिशानिर्देशों और प्रमुख देशों में मानकों के माध्यम से विनियमित किया जाता है। रिसर्च के जो परिणाम आए हैं उसके अनुसार, अभी की जो एयर क्‍वालिटी की गाइडलाइन और स्‍टैंडर्ड है वह मानव जाति के संपूर्ण स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक है, और इसका सीधा असर लोगों की सेहत पर देखने को मिला है ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com