अमेजन के जंगले में लगी भीषण आग ।

बता दें कि पिछले 14 दिनों से अमेजन के वर्षावन आग की चपेट में है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : बता दें कि पिछले 14 दिनों से अमेजन के वर्षावन आग की चपेट में है। इस आग का सीधे तौर पर आपके जीवन पर क्या असर होगा। अमेजन के वर्षावनों को दुनिया का फेफड़ा भी कहा जाता है। दरअसल, यह पूरी दुनिया में मौजूद ऑक्सीजन का 20 फीसदी हिस्सा उत्सर्जित करते हैं। यहां 16 हजार से ज्यादा पेड़-पौधों की प्रजातियां हैं। अमेजन के जंगलों में करीब 39 हजार करोड़ पेड़ मौजूद हैं। यहां 25 लाख से ज्यादा कीड़ों की विभिन्न प्रजातियां पाई जाती हैं। ब्राजील में जंगलों की कटाई के कारण आग लगने की घटनाएं बढ़ रही हैं। इस साल जनवरी से अगस्त के बीच 73 हजार आग लगने की घटनाएं हुई हैं। जबकि 2018 में पूरे साल में कुल ऐसी 39,759 ऐसी घटनाएं हुई थीं। अमेजन के जंगल 55 लाख वर्ग किमी में फैले हुए हैं। यूरोपीय संघ के देशों का जो कुल क्षेत्रफल है यह उससे लगभग डेढ़ गुना बड़ा है। अमेजन के जंगलों में 400 से 500 से ज्यादा स्वदेशी आदिवासी जातियां रहती हैं। इनमें से करीब 50 फीसदी आदिवासी प्रजातियों ने तो कभी बाहर की दुनिया से कोई संपर्क तक नहीं किया। पिछले 150 सालों में मनुष्य ने जीवाश्म ईंधन, कोयला, तेल, गैस आदि का इस्तेमाल कर वातावरण में कार्बन बढ़ा दिया है। पेड़ों का काम कार्बन को लेकर ऑक्सिजन देने का होता है, पेड़ों की संख्या घटने से ऐसा नहीं हो पाएगा। इतना ही नहीं पेड़ जिस कार्बन (Co2) को सोखते हैं, जलने पर उसे वापस छोड़ेंगे, इसके कारण वातवरण काफी प्रभावित होगा ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com