मौसम विभाग ने जारी किया नोटिस इन राज्यों में होगी भारी बारिश ।

मौसम विभाग की माने तो देश के कुछ राज्यों में अगले 48 घंटे भारी बारिश होने वाली है ।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : मौसम विभाग की माने तो देश के कुछ राज्यों में भारी बारिश होने वाली है। विभाग ने 48 घंटे में जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना जताई है आंध्र प्रदेश में भी भारी बारिश हुई है जहां कृष्णा नदी में उफान के चलते दो जिलों के 87 गांव और सैंकड़ों एकड़ कृषि भूमि डूब गई हैकेरल में हालात सामान्य हो रहे हैं और लोग राहत शिविरों से अपने घरों की तरफ जाने लगे हैं, शनिवार तक 113 की मौत हुई है उत्तर भारत में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। पंजाब में भाखड़ा बांध से अतिरिक्त पानी छोड़े जाने के चलते चेतावनी जारी की गई है। दिल्ली में शनिवार को यमुना नदी का जलस्तर चेतावनी के स्तर के करीब पहुंच गया। वहीं बाढ़ग्रस्त केरल में हालात सामान्य हो रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में अगले 48 घंटे में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश में उफनते बांध से 17 वर्षीय किशोर का शव बहता मिला है। राज्य में भूस्खलन की घटनाओं के चलते कई सड़कें बंद हैं। कांगड़ा जिले के सभी शैक्षिक संस्थानों को भी मूसलाधार बारिश के चलते शनिवार को बंद रखने के लिये कहा गया। पालमपुर के निकट बाढ़ में फंसे कई लोगों को बचा लिया गया। आंध्र प्रदेश में भी भारी बारिश हुई है जहां कृष्णा नदी में उफान के चलते दो जिलों के 87 गांव और सैंकड़ों एकड़ कृषि भूमि पानी में डूब गई है। एनडीआरएफ ने एक लड़की का शव बरामद किया है जो कृष्णा जिले में उफनती नदी में बह गई थी। कृष्णा और गुंटूर जिलों में 11,553 लोगों को 56 राहत शिविरों में भेजा गया है जहां उन्हें भोजन और पेयजल मुहैया कराया जा रहा है। राज्यपाल विश्वभूषण हरिचन्दन ने कृष्णा के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया, जबकि मंत्रियों ने विजयवाड़ा शहर में प्रभावित इलाकों का दौरा कर राहत कार्यों की निगरानी की। पंजाब में भाखड़ा बांध के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश की वजह से जमा हुए अतिरिक्त पानी को छोड़ा गया है जिसके चलते कई जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। शनिवार को पंजाब के लुधियाना, अमृतसर, मोहाली और चंडीगढ़ समेत कई हिस्सों में बारिश हुई। सतलुज नदी और निचले इलाकों के नजदीक रह रहे लोगों को सतर्क रहने और अपनी सुरक्षा के लिये एहतियाती कदम उठाने की सलाह दी गई है। अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर 203.27 मीटर पहुंच गया जो कि चेतावनी स्तर (204.5 मीटर) से थोड़ा नीचे है। बाढ़ की किसी भी संभावना से निपटने के लिये एजेंसियां स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं। राजस्थान में सैंकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। अजमेर, जोधपुर, बीकानेर, वनस्थली, भीलवाड़ा और सीकर में क्रमश: 104.5 मिमी, 88.2 मिमी 79 मिमी 42.1 मिमी, 41 मिमी और 37.4 मिमी बारिश हुई है। राजस्थान के अनेक इलाकों में भारी बारिश का दौर शनिवार को भी जारी रहा। नागौर के डेगाना में बीते चौबीस घंटे में 17 सेंटीमीटर तक बारिश हो चुकी है। राज्य के अनेक मौसमी नदी नाले भर गए हैं जबकि चंबल खतरे के निशान से उपर बह रह रही है। जयपुर को पानी आपूर्ति करने वाला बीसलपुर बांध भी लगभग भर गया है। इस बीच राज्य में बारिश से हुए विभिन्न हादसों में मरने वालों की संख्या 11 हो गयी है। इनमें से अधिकांश मौतें शुक्रवार दिन या रात में हुईं। केरल में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं और लोग राहत शिविरों से अपने घरों की तरफ जाने लगे हैं। बहरहाल, शनिवार तक मृतकों की संख्या 113 हो गयी। मलप्पुरम में 50 और वायनाड में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां 28 लोग अभी भी लापता हैं। मूसलाधार बारिश और निचले इलाके में जलजमाव के कारण कई स्थानों का संपर्क कटने से शनिवार को महानगर के अधिकतर हिस्से में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ।भारी बारिश से जूझ रहे कोलकाता में पिछले 24 घंटों में 186.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है और मौसम विभाग ने आगे भी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाई अड्डे से उड़ानों का परिचालन भी प्रभावित हुआ है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। विभाग ने 48 घंटे में जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना जताई हैआंध्र प्रदेश में भी भारी बारिश हुई है जहां कृष्णा नदी में उफान के चलते दो जिलों के 87 गांव और सैंकड़ों एकड़ कृषि भूमि डूब गई हैकेरल में हालात सामान्य हो रहे हैं और लोग राहत शिविरों से अपने घरों की तरफ जाने लगे हैं, शनिवार तक 113 की मौत हुई है उत्तर भारत में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। पंजाब में भाखड़ा बांध से अतिरिक्त पानी छोड़े जाने के चलते चेतावनी जारी की गई है। दिल्ली में शनिवार को यमुना नदी का जलस्तर चेतावनी के स्तर के करीब पहुंच गया। वहीं बाढ़ग्रस्त केरल में हालात सामान्य हो रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में अगले 48 घंटे में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश में उफनते बांध से 17 वर्षीय किशोर का शव बहता मिला है। राज्य में भूस्खलन की घटनाओं के चलते कई सड़कें बंद हैं। कांगड़ा जिले के सभी शैक्षिक संस्थानों को भी मूसलाधार बारिश के चलते शनिवार को बंद रखने के लिये कहा गया। पालमपुर के निकट बाढ़ में फंसे कई लोगों को बचा लिया गया। आंध्र प्रदेश में भी भारी बारिश हुई है जहां कृष्णा नदी में उफान के चलते दो जिलों के 87 गांव और सैंकड़ों एकड़ कृषि भूमि पानी में डूब गई है। एनडीआरएफ ने एक लड़की का शव बरामद किया है जो कृष्णा जिले में उफनती नदी में बह गई थी। कृष्णा और गुंटूर जिलों में 11,553 लोगों को 56 राहत शिविरों में भेजा गया है जहां उन्हें भोजन और पेयजल मुहैया कराया जा रहा है। राज्यपाल विश्वभूषण हरिचन्दन ने कृष्णा के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया, जबकि मंत्रियों ने विजयवाड़ा शहर में प्रभावित इलाकों का दौरा कर राहत कार्यों की निगरानी की। पंजाब में भाखड़ा बांध के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश की वजह से जमा हुए अतिरिक्त पानी को छोड़ा गया है जिसके चलते कई जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। शनिवार को पंजाब के लुधियाना, अमृतसर, मोहाली और चंडीगढ़ समेत कई हिस्सों में बारिश हुई। सतलुज नदी और निचले इलाकों के नजदीक रह रहे लोगों को सतर्क रहने और अपनी सुरक्षा के लिये एहतियाती कदम उठाने की सलाह दी गई है। अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर 203.27 मीटर पहुंच गया जो कि चेतावनी स्तर (204.5 मीटर) से थोड़ा नीचे है। बाढ़ की किसी भी संभावना से निपटने के लिये एजेंसियां स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं। राजस्थान में सैंकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। अजमेर, जोधपुर, बीकानेर, वनस्थली, भीलवाड़ा और सीकर में क्रमश: 104.5 मिमी, 88.2 मिमी 79 मिमी 42.1 मिमी, 41 मिमी और 37.4 मिमी बारिश हुई है। राजस्थान के अनेक इलाकों में भारी बारिश का दौर शनिवार को भी जारी रहा। नागौर के डेगाना में बीते चौबीस घंटे में 17 सेंटीमीटर तक बारिश हो चुकी है। राज्य के अनेक मौसमी नदी नाले भर गए हैं जबकि चंबल खतरे के निशान से उपर बह रह रही है। जयपुर को पानी आपूर्ति करने वाला बीसलपुर बांध भी लगभग भर गया है। इस बीच राज्य में बारिश से हुए विभिन्न हादसों में मरने वालों की संख्या 11 हो गयी है। इनमें से अधिकांश मौतें शुक्रवार दिन या रात में हुईं। केरल में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं और लोग राहत शिविरों से अपने घरों की तरफ जाने लगे हैं। बहरहाल, शनिवार तक मृतकों की संख्या 113 हो गयी। मलप्पुरम में 50 और वायनाड में 12 लोगों की मौत हो चुकी है। यहां 28 लोग अभी भी लापता हैं। मूसलाधार बारिश और निचले इलाके में जलजमाव के कारण कई स्थानों का संपर्क कटने से शनिवार को महानगर के अधिकतर हिस्से में जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ।भारी बारिश से जूझ रहे कोलकाता में पिछले 24 घंटों में 186.1 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है और मौसम विभाग ने आगे भी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाई अड्डे से उड़ानों का परिचालन भी प्रभावित हुआ है। भारी बारिश के  कारण आम जनजीवन प्रभावित है ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.