युवती को मुसलमान बनाकर हज़र खान ने किया निकाह, बाद में बीवी से करवाने लगा गैंगरेप के झूठे केस

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : अभी तक आपने लव जिहाद की काफी घटनाएँ सुनी होंगी, लेकिन जब आप इस घटना की सच्चाई जानेंगे तो आपके होश उड़ जायेंगे. ऐसी घटना शायद ही आपने कभी सुनी होगी लेकिन वो हज़र खान था जिसने रौंगटे खड़े कर देने वाली कई वारदातों को अंजाम दिया. इसके लिए उसने उस गैर मुस्लिम सेक्यूलर लडकी का इस्तेमाल किया, जिसे उसने लव जिहाद के तहत प्रेम जाल में फंसाकर उसे मुसलमान बनाया तथा निकाह किया. इसके बाद अपनी नापाक साजिशों को अंजाम देना शुरू किया. आपको बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली से सटे सायबर सिटी के नाम से मशहूर गुरुग्राम में बुधवार 3 जुलाई को पुलिस ने 44 वर्षीय हजर खान को गिरफ्तार किया था. हजर पर आरोप है कि वह अपनी 22 वर्षीय पत्नी पर जबरन दबाव बना रहा था कि वह गुरुग्राम अदालत के न्यायाधीश सहित कई लोगों पर यौन उत्पीड़न का झूठा आरोप लगाए, ताकि हजर उन लोगों से पैसे निकलवा सके. लेकिन, हजर के मनसूबों का खुलासा उस समय हुआ जब उसकी पत्नी जिला और सत्र न्यायाधीश के ख़िलाफ़ उत्पीड़न की शिकायत करने थाने पहुँची. यहाँ काउंसलिंग के दौरान महिला ने स्वीकार लिया कि उसका पति न्यायाधीश के ख़िलाफ़ झूठा आरोप लगाने का दबाव बना रहा है. इसके साथ ही हज़र खान की पत्नी ने इस बात का भी खुलासा किया कि वह इससे पहले भी लोगों को झूठे आरोप में फँसाने के लिए उसे धमका चुका है. पुलिस के मुताबिक महिला ने बताया है कि हजर राजस्थान का रहने वाला है और वह उससे 2016 में मिली थी. इस दौरान वह प्राइवेट अस्पताल में नर्स के रूप में कार्यरत थी. हजर ने उसे खुद की पहचान एक डॉक्टर के रूप में बताई और जल्द ही उससे दोस्ती करके, उसे प्रपोज़ भी कर दिया. 2017 में उसने महिला को धर्मांतरण के लिए फोर्स किया और उसे मुसलमान बनाकर उससे निकाह कर लिया. मीडिया सूत्रों की माने तो महिला का आरोप है कि हजर खान शादी के कुछ दिन बाद से ही उसे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगा था. इस दौरान हजर न उसे मारता-पीटता था बल्कि अप्राकृतिक सेक्स करने के लिए भी प्रताड़ित करता था. महिला ने बताया है कि हत्या की कोशिश में चार महीने की जेल गुजारने वाला हजर 2018 से उसका इस्तेमाल लोगों को फँसाने के लिए करता था. जल्दी पैसे कमाने की चाहत में वह उससे बलात्कार के झूठे मामले दर्ज कराने को कहता था. जिसके चलते 1 मई को महिला ने रेवाड़ी के आठ लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था और बाद में सुलह के लिए पैसे की माँग की थी. इसके बाद 29 जून को महिला ने न्यायाधीश के सामने मानेसर के 4 लोगों पर एक और गैंग रेप का आरोप लगाया था. लेकिन इस बार जब वह अपने बयान को दर्ज करवाके पति के पास लौटी तो हजर ने गाड़ी में पूछा कि बयान दर्ज कराने में इतना समय क्यों लगा? और फिर उस पर आरोप लगाने लगा कि वो न्यायाधीश के साथ सोई है. 1 जुलाई को वह उसे चंडीगढ़ ले गया और मारपीट कर जबरन एक वकील के पास बैठकर मैजिस्ट्रेट पर रेप का आरोप लगाते हुए शिकायत लिखवाई. हज़र खान ने उस शिकायत में लिखवाया कि बयान दर्ज करते समय मैजिस्ट्रेट ने रेप किया. फिर शिकायत पर जबरन साइन करवा लिए. महिला ने विरोध किया तो उसने उसकी बेटी को मारने की धमकी दी. जानकारी के मुताबिक हजर पर केस दर्स हो चुका है और उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है. महिला ने पुलिस को दिए अपने बयान में स्पष्ट किया है कि उसके पति हजर को छोड़कर उसका रेप किसी ने नहीं किया है. अन्य लोगों को सिर्फ़ झूठे आरोप में फँसाया जा रहा था. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com