दिल्ली पहुंचा मानसून, उत्तर भारत के कई राज्यों को मिली बारिश की सौगात।

आज उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने इसके लिए अपना अलर्ट जारी किया है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : दिल्ली में शुक्रवार को मानसून ने दस्तक दे दी। इससे सुबह के समय राजधानी के कई इलाकों में झमाझम बारिश हुई। आज उत्तराखंड के कई इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने इसके लिए अपना अलर्ट जारी किया है। शुक्रवार को उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश के कई इलाकों में झमाझम बारिश देखने को मिली। इसी के साथ ही मानसून 2019 उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली पहुंच चुका है।
मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार को दिल्ली में 25 मिलीमीटर बारिश हुई। क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र दिल्ली के प्रमुख और मौसम विभाग में वरिष्ठ वैज्ञानिक कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली समेत पूरे परिक्षेत्र में शुक्रवार को मानसून की पहली बारिश हुई। इसके बाद मौसम विभाग ने सुबह 8:30 बजे मानसून के आगमन की आधिकारिक घोषणा कर दी। आने वाले दिनों में मानसून के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद है। चार डिग्री से अधिक गिरा पारा : दिल्ली में मानसून की दस्तक के साथ ही अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। बारिश से शुक्रवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान चार डिग्री सेल्सिलय से अधिक नीचे गिरा। मौसम विभाग ने गुरुवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 38.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया था। वहीं, शुकव्रार को 34.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य तापमान से दो डिग्री सेल्सियस नीचे है। विभाग का कहना है कि अभी दिल्ली के अधिकतम तापमान में और गिरावट होने की संभावना है और शनिवार को 32 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। लखनऊ में शुक्रवार रात हुई तेज बारिश से शहरवासियों ने राहत की सांस ली। उमसभरी गर्मी से परेशान लोगोंको तापमान कम होने से सुकून मिला। मौसम विभाग का अनुमान है कि बारिश का यह सिलसिला नौ जुलाईतक जारी रह सकता है। अगले 24 घंटोंके दौरान पूर्वी यूपी में भारी बारिश के आसार हैं। हालांकि मौसम विभाग के आंकड़े बताते हैं कि इस बार उत्तर प्रदेश में अब तक मानसून की बारिश 59 फीसदी कम हुई है। मौसम निदेशक जे.पी. गुप्ता ने बताया कि एक जून से पांच जुलाई के बीच पूरे उत्तर प्रदेश में कुल 50 मिलीमीटर बारिश हुई है जो सामान्य से 59 फीसदी कम है। पूर्वी उप्र में अब तक 55 मिमी बारिश हुई है जो सामान्य से 60 फीसदी कम है, जबकि पश्चिमी यूपी में 42 मिमी बारिश हुई है जो सामान्य से 58 फीसदी कम है। मानसून के मेहरबान होने में हुए विलम्ब से यूपी के किसानों की चिन्ता बढ़ गयी है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.