लुधियाना जेल में पुलिस और कैदियों में भिड़ंत, DSP की गाड़ी फूंकी

कैदियों ने जेलकर्मियों से मारपीट शुरू की तो पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): सेंट्रल जेल में दो गुटों के बीच झगड़ा बड़े विवाद में तबदील हो गया। जेल में एक कैदी की मौत के बाद झगड़े ने हिंसक रूप ले लिया। कैदियों ने जेलकर्मियों से मारपीट शुरू की तो पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। चार घंंटे तक रुक-रुक कर हुई फायरिंग व पत्थरबाजी में एक एसीपी, जेल के डीएसपी सहित दर्जन भर पुलिस कर्मियों को भी चोट आईं। कैदियों ने डीएसपी की गाड़ी सहित तीन वाहनोंं को भी फूंक दिया। जिला उपायुक्त (डीसी) प्रदीप कुमार अग्रवाल भी मौके पर पहुंचे। जेल के अंदर कैदियों ने जमकर उत्पात मचाया। ईंट पत्थर चलाए। रसोई गैस सिलेंडरों में आग लगाई। बैरक के गेट तोड़ दिए गए। कैंटीन में आग लगा दी गई। मैस में तोड़फोड़ की। गैस सिलेंडर में आग लगाकर पुलिस वालों की ओर फेंका था, लेकिन ब्लास्ट नहीं हुआ। कैदियों ने डंडों और लोहे के रॉड के साथ हंगामा किया। कैदियों को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षाकर्मियों को गोलियां चलानी पड़ीं, इसमें एक कैदी की मौत, जबकि चार घायल हो गए। घायलों को सिविल अस्पताल पहुंचाया गया है। जेल की दीवार फांदकर कुछ कैदी भागे भी हैं। इनमें से चार को पकड़ लिया गया और शेष कैदियों की तलाश जारी है। अभी जेल प्रबंधक यह बताने में असमर्थ है कि कितने भागे। स्थिति पर काबू पाने के बाद डीसी ने बताया कि कैदी की नेचुरल डेथ हुई थी, जिस कारण कैदी भड़केेे। इस बीच, जेल मंत्री सुखजिंदर रंधावा ने एडीजीपी जेल रोहित चौधरी से पूरे घटनाक्रम की जानकारी मांगी है। जेल सूत्रों के अनुसार एक कैदी संदीप सूद को एनडीपीएस एक्ट के तहत पकड़ा गया था। उसके पास से मोबाइल बरामद हुआ था, जिसके बाद जेल कर्मियों ने उसे बुरी तरह पीटा था। हालत बिगड़ने पर उसे पहले सिविल अस्पताल और फिर राजिंदरा अस्पताल पटियाला रेफर किया गया था, जहां उसकी मौत हो गई। कैदी की मौत की सूचना मिलने के बाद लुधियाना सेंट्रल जेल के कैदी भड़केेे। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। शहर के थानों से भी अतिरिक्त पुलिस बलों को मौके पर बुलाया गया। डीसी भी मौके पर मौजूद रहे। जेल मंत्री सुखजिंदर रंधावा ने सेंट्रल जेल में हुए घटनाक्रम पर एडीजीपी जेल रोहित चौधरी से जानकारी मांगी है।रंधावा ने फिर दोहराया कि हाई प्रोफाइल जेलों में सीआरपीएफ लगाई जानी चाहिए। कहा कि जेल के अंदर वर्क कल्चर खत्म हो गया है। जेल मंत्री ने कहा कि स्थिति पर नियंत्रण के लिए गोली जेल कर्मचारी ने चलाई। एक कैदी द्वारा घटनाक्रम को फेसबुक पर लाइव करने पर उन्होंने कहा कि जेल में मोबाइल होने से की बात से इन्कार नहींं किया जा सकता। जेल के अंदर इंटेलिजेंस विग स्थापित किया जाना चाहिए। इस संबंध में वह सीएम से बात करेंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com