शाकिब ने युवराज और वॉर्नर को छोड़ा पीछे, सचिन-रिचर्ड्स के क्लब में हुए शामिल

आखिरी बार किसी ऑलराउंडर को मैन ऑफ द टूर्नमेंट का खिताब 2011 में युवराज सिंह को मिला था।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): इस वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब अल हसन का रेकॉर्ड बेहद प्रभावी है। क्रिकेट वर्ल्ड कप में आखिरी बार किसी ऑलराउंडर को मैन ऑफ द टूर्नमेंट का खिताब 2011 में युवराज सिंह को मिला था। युवराज ने पूरे टूर्नमेंट में 362 रन बनाए थे और 15 विकेट भी चटकाए। युवी से पहले 1999 वर्ल्ड कप में यह खिताब साउथ अफ्रीका के लांस क्लूजनर (281 रन और 17 विकेट) और 1996 में सनथ जयसूर्या (221 रन और 7 विकेट) को मिला था। 2 बार (1996 और 2011) में जिस खिलाड़ी को यह अवॉर्ड मिला, उसने ही वर्ल्ड कप की ट्रोफी भी उठाई। 1999 में साउथ अफ्रीका सेमीफाइनल तक जरूर पहुंची थी। इस वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के शाकिब-अल-हसन का रेकॉर्ड बतौर ऑलराउंडर इन सबसे बढ़कर है। शाकिब ने अभी तक 6 मैच खेले हैं और इसमें 476 रन बनाने के साथ 10 विकेट भी चटकाए। बांग्लादेश की टीम अभी सेमीफाइनल की रेस में बनी है और 2 मैच और खेलने हैं। बांग्लादेश के इस ऑलराउंडर के खेल को देखे हुए एक्सपर्ट उन्हें प्लेयर ऑफ द टूर्नमेंट का मजबूत दावेदार जरूर मान रहे हैं। बांग्लादेश के इस दिग्गज ऑलराउंडर का खेल अभी किसी और ही स्तर पर नजर आ रहा है। अफगानिस्तान के खिलाफ सोमवार को हुए मैच में अर्धशतक के साथ उन्होंने 5 विकेट भी चटकाए। वर्ल्ड कप में यह कारनामा करनेवाले शाकिब तीसरे खिलाड़ी हैं। इससे पहले 1983 वर्ल्ड कप में कपिलदेव ने यह कारनामा किया था और तब भारत ने वर्ल्ड कप जीता था। 2011 में यही रेकॉर्ड युवराज सिंह ने यह रेकॉर्ड आयरलैंड के खिलाफ बनाया था। आईसीसी रैंकिंग में शाकिब को ऑलराउंडर की श्रेणी में टॉप का दर्जा मिला है। अभी तक 3 मैच में इस तूफानी खिलाड़ी को मैन ऑफ द मैच चुना गया है। पॉइंट्स टेबल पर बांग्लादेश अभी भी पांचवे नंबर पर ही है, लेकिन शाकिब निजी पॉइंट्स टेबल पर काफी आगे जरूर हैं। शाकिब अभी टूर्नमेंट में सर्वाधिक रन बनाने के साथ ही साउथ अफ्रीका के इमरान ताहिर के साथ संयुक्त रूप से सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज भी हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com