इन पांच फलों को खाने से गंजापन होगा दूर, बाल होंगे और भी मजबूत।

हेयर एक्सपर्ट के अनुसार बालों को मजबूत और अच्छा रखने के लिए ज्यादा मशक्कत करने की जगह फलों का सेवन करना बेहतर विकल्प हो सकता है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : बालों का गिरना या गंजापन एक ऐसी समस्या है, जिससे आम ही नहीं खास और यहां तक की बड़ी-बड़ी सेलिब्रिटीज भी परेशान हैं। बाल उगाने को लोग न जाने क्या-क्या उपाय करते हैं। कभी-कभी घंटों कोई लेप लगाकर बैठते हैं तो कभी बालों की केयर में हजारों रुपये खर्च कर देते हैं। अब हेयर लॉस एक्सपर्ट्स ने बालों की सेहत से जुड़े एक अहम राज का खुलासा किया है। हेयर लॉस एक्सपर्ट्स के अनुसार बालों की सेहत के लिए इतनी मशक्कत या खर्च करने की जरूरत नहीं है। एक आसान से उपाय से आप अपने बालों को स्वस्थ रख सकते हैं।

हेयर एक्सपर्ट के अनुसार बालों को मजबूत और अच्छा रखने के लिए ज्यादा मशक्कत करने की जगह फलों का सेवन करना बेहतर विकल्प हो सकता है। विशेषज्ञों ने पांच ऐसे फलों के बारे में बताया है, जो बालों के लिए अमृत का काम करते हैं। खास बात ये है कि ये फल लगभग हर सीजन में आसानी से स्थानीय मार्केट में उपलब्ध हैं और वो भी हेयर केयर प्रोडक्ट्स के मुकाबले काफी सस्ते हैं। इन फलों का सेवन भी काफी आसान है।

पपीता: हेयर एक्सपर्ट्स के अनुसार कोलेजन आपके शरीर में सबसे भरपूर प्रोटीन है। यह न केवल नए बालों के निर्माण में मदद करता है, बल्कि आपके बालों को भी मजबूत करता है। ये त्वचा के मध्य की उस लेयर को भी मजबूत करता है, जिसे डर्मिस कहते हैं। त्वचा की इसी लेयर में प्रत्येक बाल की जड़ होती है। त्वचा कि ये लेयर जितनी अच्छी और मजबूत होगी, बाल भी उतने ही मजबूत और स्वस्थ होंगे। आपका शरीर कुछ अमीनो एसिड के संयोजन से कोलेजन बनाता है। ये आमतौर पर मांस, मछली, अंडे, डेयरी उत्पाद और कुछ हरी सब्जियों से मिलता है। इस पूरी प्रक्रिया में विटामिन सी का महत्वपूर्ण रोल है। पपीता विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत है। एक बड़े आकार के पपीते से आपको 235 मिलीग्राम विटामिन सी प्राप्त होता है। ये संतरे से मिलने वाले विटामिन सी की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा है। इसके अलावा पपीते में बहुतायत मात्रा में पोटेशियम मिलता है, जिसकी पर्याप्त मात्रा गंजेपन को दूर करती है।

अनानासः हेयर एक्सपर्ट्स के अनुसार ज्यादातर लोग शरीर के फ्री रेडिकल्स के बारे में जानते हैं, जो कि शरीर में स्वतः विकसित होते हैं और कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाते हैं। बीमारी और उम्र बढ़ने की ये प्रमुख वजह है। हालांकि, लोग ये नहीं जानते कि यही फ्री रेडिकल्स (मुक्त कण) बालों को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं। खास तौर पर बुजुर्गों के बालों को। इन फ्री रेडिकल्स का मुकाबला करने के लिए हमारे शरीर को एंटीऑक्सीडेंट की जरूरत होती है। अनानास हमारे शरीर में जरूरी न्यूट्रिशियन जैसे विटामिन सी, मैग्नीशियम और विटामिन बी6 के साथ हमें फ्लैवोनोइड्स और फेनोलिक एसिड जैसे एंटीऑक्सीडेंट भी उपलब्ध कराता है। अनानास से मिलने वाला एंटिऑक्सीडेंट अन्य फलों से मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट के मुकाबले ज्यादा समय तक हमारे शरीर में मौजूद रहता है।

आडूः बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए ये जरूरी है कि हमारे सिर में पर्याप्त नमी रहे। हमारी खोपड़ी में तेल ग्रंथियां होती हैं, जो सीबम नाम का एक प्राकृतिक तेल पैदा करती हैं। ये प्राकृतिक तेल बालों को उनके बढ़ने के साथ चिकना करता जाता है। अगर आपके सिर में पर्याप्त मात्रा में नमी पैदा करने वाला सीबम नहीं है तो आपके बालों को खतरा पहुंच सकता है। ऐसी स्थिति में आडू मददगार साबित हो सकते हैं। इनमें विटामिन ए व सी होता है। इसलिए ये बहुत बढ़िया प्राकृतिक मोस्चराइजर होता है। बहुत से लोग आडू का जूस निकालकर उससे सिर की मालिश भी करते हैं। उनका मानना होता है कि इससे बाल झड़ने बंद हो जाएंगे। हालांकि, इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है।

किविः किवि में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए, ई, के और बेटा-क्रेटीन, लुटेन व जैनथिन जैसे फ्लैवोनोइड एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। इसके अलावा इसमें काफी मात्रा में विटामिन सी होता है, जो कि कोलेजन उत्पादन के लिए बेहतर होता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में ओमेगा तीन फैटी एसिड भी पाया जाता है, जो हमारे शरीर में नमी बनाए रखता है। इसके अलावा किवि में काफी मात्रा में जिंक, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस जैसे खनिज भी पाए जाते हैं। इनकी वजह से सिर में रक्त का बहाव सही रहता है, जिससे बालों की जड़ भी मजबूत होती है। किवि से मिलने वाला कॉपर, हमारे बालों के रंगों को प्राकृतिक तौर पर सहेजने में मददगार है।

सेबः माना जाता है प्रतिदिन एक सेब खाने वाले व्यक्ति को कभी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं पड़ती। इसकी वजह सेब में मिलने वाले वो प्राकृतिक गुण हैं जो हमारे शरीर को विटामिन ए, बी व सी मुहैया कराते हैं। इनकी वजह से सिर सहित हमारा पूर शरीर तो स्वस्थ रहता ही है, साथ ही इससे डैंड्रफ से भी छुटकारा मिलता है। इसमें भी काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो हमारे शरीर से घातक फ्री रेडिकल्स को दूर रखता है। वर्ष 2002 में जापान के वैज्ञानिक दल द्वारा की गई एक शोध से भी साबित होता है कि सेब हमारे शरीर और बालों के लिए बेहद गुणकारी है। जापानी वैज्ञानिकों के अनुसार सेब में मिलने वाला बी2 झड़ चुके बालों को फिर से उगाने में भी मददगार है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com