वायुसेना के लापता विमान का अब तक नहीं मिला कोई सुराग

विमान की तलाश में युद्धस्तर पर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है और इसकी खोज में वायुसेना के विमानों के साथ नौसेना व थलसेना के हेलीकॉप्टर के बेड़े जुटे हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : चीन सीमा के पास लापता वायुसेना के विमान एएन-32 का तीन दिन बाद भी कोई सुराग नहीं मिल सका है। विमान में सात अधिकारियों समेत 13 लोग सवार थे। विमान की तलाश में युद्धस्तर पर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है और इसकी खोज में वायुसेना के विमानों के साथ नौसेना व थलसेना के हेलीकॉप्टर के बेड़े जुटे हैं। इसके साथ ही इसरो के कार्टोसैट और रीसैट (रडार इमेजिंग सैटेलाइट) की मदद भी ली जा रही है। इसके बावजूद वायुसेना को अब तक कोई सफलता नहीं मिली है। वायुसेना के प्रवक्ता ग्रुप कैप्टन अनुपम बनर्जी ने बताया कि घने जंगल, दुर्गम इलाके और खराब मौसम की चुनौतियों के बावजूद सर्च ऑपरेशन को और तेज कर दिया गया है। हवाई सेंसर से मिली जानकारी का बारीकी से अध्ययन किया जा रहा है और हवाई व जमीनी स्तर पर टीमें विमान की तलाश में जुटी हैं। हालांकि खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टरों द्वारा तलाशी अभियान प्रभावित रहा और बाद में उसे स्थगित करना पड़ा।

तीसरे दिन दो अतिरिक्त सुखोई-30 विमान को भी तैनात किया गया। सुखोई और सी-130जे रात में भी विमान की लोकेशन का पता लगाना जारी रहेगी। इसके अलावा सेना, आईटीबीपी और स्थानीय पुलिस के जवान भी लगातार अभियान चला रहे हैं। वायुसेना के एएन-32 मालवाहक विमान ने सोमवार को असम के जोरहट से अरुणाचल प्रदेश के मेनचुका के लिए उड़ान भरी थी। उड़ान भरने के 35 मिनट बाद ही विमान का ग्राउंड स्टाफ से संपर्क टूट गया था। लापता विमान को पायलट आशीष तंवर उड़ा रहे थे। आशीष की पत्नी संध्या और बहन भी वायुसेना में हैं। जिस समय विमान ने उड़ान भरी थी, संध्या तंवर एयर ट्रैफिक कंट्रोल में ड्यूटी पर थीं। विमान के लापता होने के बाद से हरियाणा के पलवल में आशीष के घर आने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है। विमान में पंजाब के पटियाला के रहने वाले फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग भी सवार हैं। उनके लापता होने के बाद से परिजन परेशान हैं और लगातार उनकी जानकारी ले रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com