जानिए कैसे इस एयर होस्टेस ने जलते विमान से बचाई 31 लोगों की जान !

विमान की एक एयरहोस्टेस को लोग हीरो कहकर संबोधित कर रहे हैं।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : रूस में रविवार को एक बड़ा विमान हादसा हो गया, जिसमें 41 लोगों की मौत हो गई। विमान में मौजूद कुछ लोग घायल भी हुए हैं। जिन 41 लोगों की मौत हुई है, उनमें दो बच्चे भी शामिल हैं।रिपोर्ट के मुताबिक, रूस की सरकारी विमानन कंपनी एरोफ्लॉट के विमान में उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद आग लग गई। इसके बाद विमान की आपात लैंडिंग कराई गई। विमान में 78 यात्री सवार थे। अधिकारियों के अनुसार, मरने वालों में चालक दल की एक सदस्य भी है। विमान राजधानी मॉस्को से उत्तरी शहर मरमांस्क जा रहा था। विमान की एक एयरहोस्टेस को लोग हीरो कहकर संबोधित कर रहे हैं। उन्होंने 31 लोगों की जान बचाई है। उन्होंने लोगों को कॉलर पकड़ के पूरी कोशिश के साथ वक्त पर विमान से बाहर निकाल दिया। एयरहोस्टेस तत्याना कसातकिना (34) ने दरवाजा खोलकर यात्रयों को तेजी से विमान से उतारा। उनका कहना है, “जब विमान रुका तो तुरंत लोगों को बाहर निकाला गया। हर कोई चीख रहा था क्योंकि चारों ओर आग थी, लेकिन उस समय तक कैबिन के अंदर आग नहीं लगी थी।”

उन्होंने कहा मैंने अपने पैर से दरवाजा खोला और यात्रियों को बार निकाला। मैंने पीछे से हर एक को कॉलर से पकड़ा और बाहर निकाला। “सब बहुत जल्दी किया। धुंआ भी काला हो चुका था। आखिर में खड़े लोग बाहर निकलने के लिए रेंग रहे थे।”मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कुछ लोगों ने लॉकरों से हैंडबैग जैसा सामान निकालने के चक्कर में निकासी में देरी की। सोशल मीडिया पर उपलब्ध फुटेज में एरोफ्लोट का सुखोई सुपरजेट 100 विमान शेरेमेत्येवो अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरता हुआ और आग की लपटों से घिरा हुआ दिख रहा है। यात्री विमान से निकलने और दूर भागने की कोशिश करते हुए दिख रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com