त्रिपुरा कॉन्ग्रेस अध्यक्ष की गुंडागर्दी का वीडियो वायरल ! थाने में युवक को मारा थप्पड़

जानकारी के मुताबिक, जिस शख्स को बर्मन थप्पड़ मारते हुए नजर आ रहे हैं, उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर रखा था।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : त्रिपुरा के कॉन्ग्रेस अध्यक्ष प्रद्योत किशोर देव बर्मन का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वो थाने में घुसकर एक शख्स को थप्पड़ मारते हुए नजर आ रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, जिस शख्स को बर्मन थप्पड़ मारते हुए नजर आ रहे हैं, उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर रखा था। इस शख्स पर प्रद्योत देव बर्मन की बहन व त्रिपुरा कॉन्ग्रेस उम्मीदवार प्रज्ञा देव बर्मन के काफिले पर हमला करने का आरोप है। पुलिस आरोपी शख्स को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ कर रही है। इस बीच थाने में घुसकर आरोपी शख्स को थप्पड़ मारने का त्रिपुरा के कॉन्ग्रेस अध्यक्ष प्रद्योत देव बर्मन का ये वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल होने लगा है।प्रद्योत किशोर को जब आरोपी के गिरफ्तार होने की बात पता चली, तो वो अपने समर्थकों के साथ पुलिस स्टेशन पहुँचे और आरोपी शख्स को जोरदार तमाचा जड़ दिया।

पुलिस स्टेशन में मौजूद पुलिस वालों ने बीच बचाव किया, लेकिन प्रद्योत किशोर का पारा सातवें आसमान पर था। वो किसी की भी बात सुनने के लिए तैयार नहीं थे। पुलिस उप महानिरीक्षक अरिंदम नाथ के अनुसार, आरोपी इंडिजिनियस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) का समर्थक है।इस मामले पर बात करते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता रतन लाल नाथ ने कहा कि वीडियो में ये साफ-साफ दिखाई दे रहा है कि कैसे प्रद्योत किशोर ने अपने राजनीतिक विरोधियों को डराने-धमकाने की कोशिश की है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ये इंसान पुलिस स्टेशन के अंदर किसी शख्स के ऊपर हाथ उठा सकता है, तो फिर तो ये कहीं भी किसी की भी हत्या कर सकता है। त्रिपुरा में 23 अप्रैल को तीसरे चरण में मतदान होना है और आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद भी त्रिपुरा कॉन्ग्रेस अध्यक्ष का थाने में घुसकर थप्पड़ मारने की घटना उनको मुश्किल में डाल सकती है।बता दें कि, प्रज्ञा देव बर्मन त्रिपुरा संसदीय सीट से कॉन्ग्रेस प्रत्याशी हैं और त्रिपुरा ईस्ट से चुनाव लड़ रही हैं। इस मामले में प्रज्ञा का भी बयान सामने आया है। प्रज्ञा ने कहा है कि वो तुलाशिखर में सभा को संबोधित करके लौट रही थी, तभी आईपीएफटी के समर्थकों ने उनके काफिले पर ईंट फेंक कर हमला किया। उन्होंने कहा कि ऐसा लगा था कि इस शख्स के साथ कुछ और लोग भी थे। इसके साथ ही प्रज्ञा ने कहा कि जनता से मिल रहे समर्थन को देखते हुए राजनीतिक ईर्ष्या के तहत उनकी कार पर पथराव करने का प्रयास किया गया।वहीं, प्रद्योत ने थप्पड़ मारने वाली घटना के बाद कहा, “यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना थी। इस व्यक्ति ने मेरी बहन पर ईंट से हमला किया था, जिससे वह बाल-बाल बचीं। मैं अपने खिलाफ होने वाले हर कार्रवाई के लिए तैयार हूँ, लेकिन मैंने वही किया जो कोई भी भाई या त्रिपुरा का एक जिम्मेदार नागरिक करता।” जबकि आईपीएफटी ने इन आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि उसके समर्थकों ने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार के काफिले पर कोई पत्थरबाजी नहीं की थी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com