कर्ज संकट से जूझ रही जेट एयरवेज को नहीं मिली 400 करोड़ की इमरजेंसी फंडिंग

सीईओ विनय दुबे ने ऑपरेशन जारी रखने के लिए एसबीआई से तत्काल 400 करोड़ रुपए देने का आग्रह किया था।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : कर्ज संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने आज रात से अपनी सभी उड़ानें अस्थायी तौर पर बंद करने का फैसला लिया है। एयरलाइन ने यह फैसला इसलिए लिया, क्योंकि संकट से उबरने और ऑपरेशन जारी रखने के लिए उसे 400 करोड़ रु. की इमरजेंसी फंडिंग नहीं मिल पाई। सीईओ विनय दुबे ने ऑपरेशन जारी रखने के लिए एसबीआई से तत्काल 400 करोड़ रुपए देने का आग्रह किया था।मंगलवार को जेट के सिर्फ 5 विमानों ने उड़ान भरी थी। मंगलवार सुबह जेट के बोर्ड की तीन घंटे तक बैठक हुई। बैंकों से मदद नहीं मिलने के कारण मैनेजमेंट ने बोर्ड के सामने कुछ दिन के लिए ऑपरेशन पूरी तरह बंद करने का प्रस्ताव रखा था।तीन महीने से सैलरी नहीं मिलने से नाराज पायलटों ने फिर चेतावनी दी है। उनके संगठन नेशनल एविएटर्स गिल्ड के वाइस प्रेसिडेंट असीम वलियानी ने कहा कि एसबीआई पैसे देने को लेकर गंभीर नहीं है। संगठन दिवालिया कानून के तहत एनसीएलटी में अपील कर सकता है। मामला एनसीएलटी में गया तो बैंकों को कर्ज वापसी में महीनों लग सकते हैं। एक सूत्र ने बताया कि जेट का संकट बढ़ने के बाद 400 पायलट नौकरी छोड़ चुके हैं। अब जेट के पास 1,300 पायलट रह गए हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com