कांग्रेस ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र

णा पत्र जारी करने के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी, पी चिदम्बरम, रणदीप सुरजेवाला, प्रियंका वाड्रा तथा कई अन्य कांग्रेस नेता उपस्थित थे। घोषणा पत्र जारी करने से पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि ये भविष्य की राह दिखाने वाला घोषणापत्र होगा।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : कांग्रेस पार्टी ने 2019 लोकसभा चुनावों के लिए अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। कांग्रेस ने इस मेनिफेस्टो को जनआवाज नाम दिया गया है। मेनिफेस्टो की टैगलाइन ‘हम निभाएंगे’ दी गई है। घोषणा पत्र जारी करने के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह, सोनिया गांधी, पी चिदम्बरम, रणदीप सुरजेवाला, प्रियंका वाड्रा तथा कई अन्य कांग्रेस नेता उपस्थित थे। घोषणा पत्र जारी करने से पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि ये भविष्य की राह दिखाने वाला घोषणापत्र होगा। कांग्रेस के लिए आज का दिन ऐतिहासिक होगा। गरीबी, बीमारी से जूझते देश के लिए जरूरी योजनाओं का जिक्र होगा। ये घोषणापत्र लोगों की उम्मीदों, आकांक्षाओं को पूरा करने वाला होगा।कांग्रेस का चुनावी घोषणा पत्र जारी करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि घोषणापत्र को बंद दरवाजों के पीछे नहीं जनता के बीच जाकर तैयार किया है।

घोषणापत्र की बड़ी बातें:

  • हर साल 20 फीसदी गरीबों को न्याय योजना के तहत 72 हजार रुपये सालाना
  • मार्च 2020 तक 22 लाख खाली पड़े पदों को भरा जाएगा।
  • हिंसक भीड़ पर रोक लगाएंगे, लोकसभा में नया कानून लाएंगे।
  • 34 लाख सरकारी पद भरे जाएंगे। युवाओं को पक्का रोजगार मिलेगा।
  • जीएसटी को आसान बनाया जाएगा।
  • मनरेगा में 100 दिन से बढ़ाकर 150 दिन रोजगार गारंटी
  • 3 साल तक नए कारोबारों को किसी मंजूरी की जरूरत नहीं
  • ग्राम पंचायत में 10 लाख नौकरियां
  • जीडीपी का 6 फीसदी शिक्षा के लिए खर्च होगा
  • किसान कर्ज न चुका पाएं तो आपराधिक मामला नहीं

राहुल गांधी ने कहा कि हम चाहते थे कि इसमें जनता की आवाज हो इसलिए मैंने कमेटी से कहा था कि आम लोगों से बात करना जरूरी है। मेरा कहना साफ था कि इसमें कोई झूठ नहीं होना चाहिए, क्योंकि हम प्रधानमंत्री की तरह झूठ नहीं बोलते हैं। राहुल गांधी ने कहा कि इसमें सिर्फ पांच बातों पर फोकस है, क्योंकि कांग्रेस का लोगो ही पंजा है। सबसे पहले बात न्याय की आय, जिसके जरिए हम सभी के खातों में पैसा डालेंगे, “गरीबी पर वार, 72 हजार” ये पैसे हर साल दिए जाएंगे। इससे सीधे तौर पर अर्थव्यवस्था को फायदा मिलेगा।न्याय के पथ में हर दिन अटकाए जा रहे रोड़े।। राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान के युवाओं को रोजगार खोलने के लिए किसी की परमिशन की जरूरत नहीं। शुरुआती तीन साल के लिए आपको किसी की मदद नहीं चाहिए, आप सीधा अपना रोजगार खोलिए। इसके जरिए हम 10 लाख युवाओं को सीधे ग्राम पंचायत में ही रोजगार देंगे। राहुल गांधी ने ऐलान किया कि हम किसानों के लिए अलग से बजट लाएंगे। जैसे रेल के लिए अलग बजट होता था, वैसे ही किसानों के लिए भी अलग से बजट होगा ताकि उन्हें पता चल सके कि उनके लिए कितना खर्च हो रहा है। राहुल ने कहा कि अगर किसान कर्ज ना चुका पाता है तो वह आपराधिक मुकदमा नहीं बल्कि सिविल मुकदमा के तहत आएगा।“हिन्दू आतंकी नहीं होता”।। नरेंद्र मोदी के इस शब्द को पचा नहीं पा रहा विपक्ष और साबित करना चाहता है कि मोदी झूठ बोल रहे हैंशिक्षा के लिए राहुल ने कहा कि हम 6 फीसदी से अधिक शिक्षा पर खर्च करेंगे। उन्होंने कहा कि हम प्राइवेट इंशोरेंस भरोसा नहीं करते हैं, गरीब व्यक्ति को भी हाई क्वालिटी अस्पताल का एक्सेस हो। बीजेपी की सरकार ने देश को बांटने का काम किया, जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद की घटनाएं बढ़ रही हैं। देश की राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंरिक सुरक्षा पर कांग्रेस का पूरा फोकस होगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि आज देश में मेन मुद्दा किसानों का है, रोजगार का है। इसमें जीएसटी, न्याय योजना भी काफी अहम हो जाएगी। उन्होंने कहा कि हम प्राइवेट इंशोरेंस भरोसा नहीं करते हैं, गरीब व्यक्ति को भी हाई क्वालिटी अस्पताल का एक्सेस हो।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com