नमाज के बाद भयंकर गोलीबारी, 30 की मौत, 50 से ज्यादा घायल !

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : नई दिल्ली। दुनिया का शांत मुल्क कहा जाने वाला न्यूजीलैंड आज शुक्रवार को रक्त से नहा उठा।न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में अलनूर और एक अन्य मस्जिद में शुक्रवार को दोपहर की नमाज के बाद भयंकर गोलीबारी की गई। दो मस्जिदों पर हुए इस हमले में 30 लोगों की मौत की खबर आ रही है तो वहीं 50 से ज्यादा लोग घायल बताये जा रहे हैं। बताया गया है कि शुक्रवार दोपहर 1:30 बजे के करीब मस्जिद में नमाज के लिए भारी संख्या में लोग्फ़ उपस्थित थे। इसी दौरान हमलावर ने भयंकर गोलीबारी शुरू कर दी। मस्जिद पर इस हमले के पीछे जो वजह सामने आई है वो काफी चौंकाने वाली है। हमलावर ने बताया है कि उसने मस्जिद पर हमला इसलिए किया है क्योंकि यहां के लोग लैंड जिहाद तथा धर्मान्तरण करते हैं। न्यूजीलैंड हेराल्ड के मुताबिक, हमलावर ने सेना की वर्दी पहन रखी थी और उसने दो मैगजीन गोली फायर किया। उसने इसका लाइव वीडियो भी बनाया। हमले से पहले उसने 37 पन्नों का एक मेनिफेस्टो भी जारी किया था। इस मेनिफेस्टो में हमलावर ने लिखा, मैं मुस्लिमों से घृणा नहीं करता हूं, लेकिन उन मुस्लिमों से घृणा करता हूं जो हमारी जमीन पर कब्जा कर रहे हैं और धर्म परिवर्तन कर रहे हैं।’ ज्ञात हो कि लैंड जिहाद तथा धर्मान्तरण की समस्या से हिंदुस्तान भी जूझ रहा है। हिंदुस्तान में बड़े पैमाने पर मजहबी उन्मादी एक साजिश के तहत लैंड जिहाद तथा धर्मान्तरण को अंजाम दे रहे हैं। मजहबी चरमपंथियों ने जब न्यूजीलैंड में भी लैंड जिहाद तथा धर्मान्तरण की साजिशें रची तो इससे आक्रोशित हमलावर ने कानून अपने हाथ में ले लिया तथा मस्जिद पर भीषण हमला करते हुए 30 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। न्यूजीलैंड की मीडिया के मुताबिक, क्राइस्टचर्च के मस्जिदों में फायरिंग का बंदूकधारी ने 17 मिनट तक लाइव वीडियो बनाया। बंदूकधारी की पहचान ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है। 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरंट ऑस्ट्रेलिया का रहने वाला है। बंदूकधारी ने पहले डीन एवेन्यू में अल नूर मस्जिद के पास अपनी कार पार्क की। इसे बाद उसने बंदूक निकाला और मस्जिद में घुसते ही अंधाधुंध फायरिंग करने लगा। बताया जा रहा है कि वह आर्मी ड्रेस पहना था और उसने करीब दो मैगजीन फायरिंग की। उसकी गाड़ी में कई और हथियार पड़े हुए थे। पुलिस कमिश्नर माइक बुश ने बताया कि चार लोग अब हिरासत में हैं। गोलीबारी के कारण का पता नहीं लगा है। फिलहाल, एक महिला समेत चार लोगों को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने कहा कि कारों से कई विस्फोटक और IEDS जुड़े हुए थे। इससे स्थिति की गंभीरता को समझा जा सकता है। एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि हमलावर की बंदूक पर दो नाम लिखे थे– ‘एलेक्जेंडर बिसोनेटऔरलुका ट्रिनी यह दोनों इटली और कनाडा के मस्जिद पर हमला करने वाले हमलावर थे। फिलहाल पुलिस ने एक महिला समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें एक का नाम ब्रेंटन टैरंट बताया गया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com