पांड्या-राहुल पूरी सीरीज के लिए सस्पेंड, लौटाया गया स्वदेश

लोकेश राहुल व हार्दिक पांड्या पहले वनडे मैच में कंगारू टीम के खिलाफ नहीं खेलेंगे।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : नई दिल्ली। बीसीसीआइ ने टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या और बल्लेबाज केएल राहुल को टीवी शो कॉफी विद करण के दौरान महिलाओं पर अश्लील टिप्पणी करने की वजह से ऑस्ट्रेलिया दौरे से वापस भारत बुला लिया है। इस तरह ये दोनों खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज से बाहर हो गए हैं। साथ ही बीसीसीआइ के सीओए के साथ ईमेल संवाद में यह जानकारी मिली है कि इन दोनों खिलाड़ियों पर कड़ी कार्रवाई की जा सकती है। बीसीसीआइ से जुड़े अधिकारी के अनुसार, पांड्या और राहुल के खिलाफ 15 दिनों के भीतर जांच समिति बिठाई जा सकती है। अधिकारी ने बताया दोनों खिलाडि़यों को ऑस्ट्रेलिया से बुलाया जा रहा हे। अगर उनके टिकट बुक हो जाते हैं तो वह शनिवार तक वापस आ जाएंगे या उससे एक दिन बाद। इसी के साथ उनके न्यूजीलैंड दौरे पर टीम में शामिल होने की संभावना भी कम हो गई है। उम्मीद जताई जा रही है कि रिषभ पंत और मनीष पांडे इन दोनों की जगह ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाएंगे। क्रिकेट प्रशासक समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय ने कहा कि दोनों क्रिकेटर पांड्या और राहुल को जांच पूरी होने तक के लिए निलंबित कर दिया गया है।

बीसीसीआइ से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि जांच पूरी होने से पहले दोनों को ताजा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। अधिकारी ने बताया कि बोर्ड की आंतरिक कमेटी या फिर एडहॉक कमेटी इस मामले की जांच करेगी। अधिकारी ने आगे कहा कि यह चौंकाने वाला नहीं होगा कि विजय शंकर, श्रेयस अय्यर, पांडे या फिर पंत ऑस्ट्रेलिया की उड़ान भरेंगे। यह फैसला तब आया जब सीओए की सदस्य डायना इडुल्जी ने दोनों पर कोई कार्रवाई होने से पहले तक निलंबित करने का फैसला किया। इससे पहले बीसीसीआइ की कानूनी सलाहकार टीम ने दोनों खिलाडि़यों की टिप्पणी से किसी कोड ऑफ कंडक्ट को तोड़ने का दोषी पाए जाने से मना कर दिया था। इडुल्जी ने दोनों पर दो मैचों का प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की थी। राय ने भी इसका समर्थन किया और मामले को कानूनी टीम के पास जांच के लिए भेज दिया।कानूनी टीम से राय लेने के बाद इडुल्जी ने कहा, ‘यह जरूरी है कि दु‌र्व्यवहार पर कार्रवाई का फैसला लिए जाने तक दोनों खिलाडि़यों को निलंबित रखा जाए जैसा कि बीसीसीआइ सीईओ (राहुल जौहरी) के मामले में किया गया था जब यौन उत्पीड़न के मामले में उन्हें छुट्टी पर भेजा गया था।’

बीसीसीआइ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जांच लंबित रहने तक पांड्या और राहुल का निलंबन होना चाहिए। यह आचार संहिता का मामला नहीं, बल्कि बोर्ड प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाना है। जैसे कि आइसीसी ने गेंद से छेड़छाड़ के आरोपों में अपनी आचार संहिता के तहत स्टीव स्मिथ पर अधिकतम एक मैच का प्रतिबंध लगाया था, लेकिन खेल की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उन्हें एक साल के लिए प्रतिबंधित किया। जब आप उनकी मूर्खतापूर्ण टिप्पणी को देखते हैं, तो उसकी बड़ी तस्वीर देखिए। हाल ही में टीवी शो कॉफी विद करण में हार्दिक पांड्या अपने साथी खिलाड़ी केएल राहुल के साथ पहुंचे थे। इस दौरान शो पर हार्दिक ने महिलाओं के साथ अपने संबंधों पर खुलकर चर्चा की थी। हालांकि, राहुल यहां थोड़े शांत रहे थे। इस मामले में हार्दिक ने बुधवार को माफी मांग ली थी, लेकिन राहुल ने अभी तक इस मामले में कुछ नहीं कहा है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com