नए प्रदेश काँग्रेस अध्यक्ष के बनने से क्या लग सकेगा गुट बाजी पर विराम?सुखू की बयानबाजी से संसय अभी भी बरकरार।

सुंदरनगर।रोशन लाल शर्मा
एनएलएन मीडिया।न्यूज़ लाइव नाउ:
राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा आखिर हिमाचल प्रदेश में काँग्रेसअध्यक्ष बदलने का फैसला ले ही लिया गया।सेवा निवृत अध्यक्ष सुखबिंदर सिंह सुखु छे साल इस पद पर काबिज रहे और उन्होंने कांग्रेस संगठन को मजबूत करने की पूरी कोशीश की। बिडम्बना यह रही कि वह अपने कार्यकाल के दौरान काँग्रेस की सरकार दोबारा प्रदेश में काबिज नही करा सके। जहां तक सुखु जी का स्वाल है इनको एनएसयूआई और युवा काँग्रेस में भी नेतृत्व करने का बहुत लंबा समय मिला।इनमें कमी एक ही रही कि यह पूर्व मुख्य मन्त्री वीरभद्र सिंह के साथ तालमेल नही बिठा सके ।इन दोनों के बीच तनातनी जारी रही जिससे प्रदेश में काँग्रेस शसक्त होने के वावजूद कमजोर हुई।लोकसभा चुनाव के मध्य नजर काँग्रेस द्वारा सही तालमेल के लिए नेतृत्व में शायद यह बदलाव किया गया है । परन्तु जिस तरह नए प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर की ताजपोशी के लिए शुखविंद्र सिंह सुखु अपना और आनंद शर्मा का नाम ले रहे हैं इससे लगता है अभी भी गुट बाजी को विराम लग पाना असम्भव दिख रहा है।हालाँकी प्रदेश अद्यक्ष की ताजपोशी के लिए वीरभद्र सिंह द्वारा कोई विपरीत व्यंबाजी नही की गई और बदलाव को सार्थक बताया गया।नए अध्यक्ष की ताजपोशी के लिए जिला कांग्रेस सुन्दरनगर के अनेको पदाधिकारियो द्वारा मुबारिक बाद दी गई जिसमें जिला कांग्रेस प्रवक्ता ब्रह्मदास चौहान ,महिला कांग्रेस की जिला प्रधान माला मेहता, पूर्व सेवादल के संसदीय क्षेत्र के प्रभारी करतार सिंह जम्बाल, सुंदर नगर कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष हेमंत शर्मा,हरमेश अबरोल,प्रदेश कांग्रेस सचिव और सिराज ब्लॉक के प्रभारी हिरापाल,सुंदर सिंह,बेली राम, कांग्रेस महिला अद्यक्ष मधुमती ,नरेश चौहान शामिल हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com