दिल्ली : वामपंथी संगठनों से जुड़ी दस ट्रेड यूनियनों की हड़ताल के कारण लगे है भारी ट्रैफिक जैम

इस हड़ताल का असर दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार सुबह से ही नजर आ रहा है

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : Bharat Bandh वामपंथी संगठनों से जुड़ी दस ट्रेड यूनियनों ने केंद्र सरकार के खिलाफ 8 और 9 जनवरी को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। इस हड़ताल का असर दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार सुबह से ही नजर आ रहा है।फरीदाबाद में संयुक्त ट्रेड यूनियन काउंसिल की ओर से घोषित देशव्यापी हड़ताल के दौरान निगम गेट पर बैठक करते कर्मचारी।विभिन्न केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की दो दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल के चलते गाजियाबाद जिले में भी केंद्रीय कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार दिया है। इस हड़ताल से जहां आम आदमी के काम प्रभावित होंगे। वहीं बैंकों के पांच सौ करोड़ का कारोबार प्रभावित होने के आसार हैं।ट्रेड यूनियनों की देशव्यापी हड़ताल के चलते मंगलवार को जिले में सरकारी बैंक कर्मियों ने काम नहीं किया। बैंकों के सामने हड़ताल का बोर्ड लटका दिया गया है। वहीं, दूरसंचार कर्मियों ने कार्य बहिष्कार किया है। इसी के साथ अपनी पांच मांगों को लेकर विद्युत वितरण निगम के कर्मचारी भी कार्य बहिष्कार पर चले गए हैं।इस बंद में देश के कई किसान और शिक्षक संघ भी हिस्‍सा ले रहे हैं। इस दौरान सड़कों पर परिवहन, बैंकों में कामकाज और स्‍कूलों में पढ़ाई प्रभावित होने के आसार हैं। ट्रेड यूनियनों की मांगों में वेतन व‍ृद्धि, रोजगार, पदोन्‍नति के साथ-साथ न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य में बढ़ोतरी सहित कई अन्‍य मांगें भी शामिल हैं।10 ट्रेड यूनियनों आईएनटीयूसी, एआईटीयूसी, एचएमएस, सीटू, एआईयूटीयूसी, एआईसीसीटीयू, यूटीयूसी, टीयूसीसी, एलपीएफ और सेवा ने संयुक्त रूप से आम हड़ताल की घोषणा की है। इन संगठनों का आरोप है कि नरेंद्र मोदी सरकार ने श्रमिक कल्याण के कदम उठाने के बजाए दमनकारी नीतियां अपनाईं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com