गोकशी के खिलाफ योगी सरकार की कड़ी कारवाई, गौहत्यारे ही नहीं बल्कि गौ हत्यारिनों को भी किया जा रहा गिरफ्तार

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : नई दिल्ली।गोकशी के खिलाफ योगी की पुलिस ने बेहद की कड़ी कार्यवाई शुरू कर दी है. योगी की पुलिस ने सिर्फ गोहत्यारे ही नहीं बल्कि गौहत्यारों के परिजनों के खिलाफ भी शिंकजा कसना शुरू कर दिया है. खबर के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश के मेरठ में गोवध अधिनियम के जो भी मामले दर्ज हुए हैं और पुलिस को मौके से गोवंश का मीट मिला है. ऐसे सभी मामलों में पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है. इसमें खास बात ये है कि लिसाड़ीगेट और कोतवाली क्षेत्र के 12 परिवार ऐसे हैं जिनमें महिलाओं के खिलाफ भी चार्जशीट दाखिल की गई है. वहीं देहात के 14 परिवारों पर कार्रवाई की गई है. पुलिस का कहना है कई घरों में महिलाओं ने ही गाय का मीट छिपाकर रखा था.

गौरतलब है कि बुलंदशहर में गोकशी के शक में हुए बवाल के बाद एसएसपी अखिलेश कुमार ने सभी सीओ और थाना प्रभारियों को निर्देश दिए थे कि गोकशी करने वालों का एक सप्ताह में सत्यापन का कार्य पूरा कराया जाए. जिसके बाद शहर में एसपी सिटी रणविजय सिंह और देहात में एसपी देहात राजेश कुमार ने गोकशी रोकने के लिए सीओ और थानेदारों ने गांवों में मीटिंग की. गोकशी रोकने के लिए शपथ दिलाई गई। मुनादी कराते हुए गोतस्करों के घरों के बाहर अभियान चलाया गया. शहर में कोतवाली सर्किल के लिसाड़ीगेट और कोतवाली क्षेत्र में एक मुकदमे को छोड़कर सभी में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी गई. इनमें गोतस्करों की पत्नी भी पुुलिस ने मुल्जिम बनाई हैं. गोकशी के मुकदमों को लेकर प्रत्येक दिन एसएसपी थाना प्रभारियों से रिपोर्ट मांग रहे हैं.

सीओ दिनेश शुक्ला का कहना है कि एक जनवरी 2014 से लेकर 21 दिसंबर 2018 तक लिसाड़ीगेट और कोतवाली में 38 मामले गोवध अधिनियम के दर्ज हुए हैं. इन 38 मामलों में प्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद के 17 मामले दर्ज हुए हैं. एक मुकदमे को छोड़कर सभी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी गई है. 25 लोगों के खिलाफ गैंगेस्टर और 22 के खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई की गई है. तीन गोतस्करों के खिलाफ रासुका भी लगाई गई तथा जो भी वांछित हैं उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है.

एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया कि देहात क्षेत्र में 212 गोतस्करों की गिरफ्तारी कर जेल भेजा गया है. किठौर में सबसे अधिक 22 मामले दर्ज हुए, जबकि देहात के थानों में 87 मामले दर्ज हुए. 12 मामलों को छोड़कर सभी में चार्जशीट दाखिल कर दी गई है. 26 लोगों पर गुंडा एक्ट, 24 पर गैंगस्टर की कार्रवाई की गई है. लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र में रफीक की पत्नी फरजान, शहजाद की पत्नी आशमा, वकील की पत्नी शहनाज, फईम, नदीम, इमरान की पत्नी भी गोकशी में आरोपी बनाई गई हैं. शादाब, इरफान, शहजाद की पत्नी और मां भी गोकशी में आरोपी बनाई गई हैं. बिल्लो, शगुफ्ता, चांदनी के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज की गई है. देहात में किठौर, मुंडाली, भावनपुर में 14 परिवार की महिलाओं के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज की गई है. एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि गोकशी की घटना रोकने के सख्त निर्देश दिए गये हैं. जो भी परिवार के लोग गोकशी में शामिल रहे हैं ऐसे लोगों पर पुलिस चिन्हित कर सख्त कार्रवाई कर रही है तथा फरार आरोपियों को लेकर लगातार पुलिस दबिश दे रही है.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com