एडिलेड में 15 साल से नहीं जीता भारत, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्ट मैच कल से

भारत ने इस मैदान पर पहली बार 1948 में टेस्ट खेला था। तब से अब तक उसने यहां 11 टेस्ट खेले हैं, जिनमें सात में उसे हार का सामना करना पड़ा है।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ)  :  भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैच की सीरीज का पहला टेस्ट छह दिसंबर से एडिलेड में खेला जाना है। भारत ने इस मैदान पर पहली बार 1948 में टेस्ट खेला था। तब से अब तक उसने यहां 11 टेस्ट खेले हैं, जिनमें सात में उसे हार का सामना करना पड़ा है। भारतीय टीम को यहां एकमात्र जीत दिसंबर 2003 में मिली थी। तब उसने ऑस्ट्रेलिया को चार विकेट से हराया था। उसके बाद से भारत ने यहां तीन टेस्ट खेले, जिसमें दो में उसे हार का सामना करना पड़ा, जबकि एक टेस्ट ड्रॉ रहा।दोनों टीमों के बीच यहां पिछले पांच टेस्ट की बात करें तो ऑस्ट्रेलिया ने तीन और भारत ने एक मैच जीता। एक टेस्ट ड्रॉ रहा। दिसंबर 1999 में ऑस्ट्रेलिया ने 285 रन और 2003 में भारत ने चार विकेट से जीत हासिल की थी। जनवरी 2008 में दोनों टीमों के बीच खेला गया टेस्ट ड्रॉ रहा। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने जनवरी 2012 और दिसंबर 2014 में क्रमशः 298 और 48 रन से भारत को हराया था।इस मैदान पर टेस्ट में भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी जीत जनवरी 1948 में हासिल की थी। तब ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को पारी और 16 रन से हराया था। उसके बाद से भारत एडिलेड में कभी पारी के अंतर से नहीं हारा। 1948 के टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की अगुआई डॉन ब्रैडमैन, जबकि भारत का नेतृत्व लाला अमरनाथ ने किया था।

Related image

उस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करते हुए सिड बर्नेस, लिंडसे हैस्सेट के शतक और ब्रैडमैन के दोहरे शतक की बदौलत 674 रन बनाए थे। भारत ने विजय हजारे और दत्तू फडकर के शतक की बदौलत पहली पारी में 381 रन बनाए, लेकिन वह फॉलोऑन बचा नहीं पाया। दूसरी पारी में विजय हजारे ने फिर 145 रन की पारी खेली, लेकिन वे अपनी जीत की हार टाल नहीं पाए।एडिलेड में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने अब तक 76 टेस्ट खेले हैं। इनमें उसे 40 में जीत मिली, जबकि 17 में हार का सामना करना पड़ा। 19 मुकाबले ड्रॉ पर छूटे। ऑस्ट्रेलिया पिछले आठ साल से यहां अजेय है। उसे यहां आखिरी बार 2010 में इंग्लैंड ने हराया था। उस टेस्ट में इंग्लैंड पारी और 71 रन से जीता था। यह ऑस्ट्रेलिया की इस मैदान पर दूसरी सबसे बड़ी हार थी। इससे पहले इंग्लैंड ने 1892 में उसे पारी और 230 रन से हराया था। 2010 के बाद से ऑस्ट्रेलिया ने यहां सात टेस्ट खेले। इसमें से उसे छह में जीत हासिल हुई, जबकि एक मैच ड्रॉ रहा। इस मैदान पर पिछले पांच टेस्ट की बात करें तो सभी में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जीत हासिल की है। उसने दिसंबर 2013 में इंग्लैंड को 218 रन, दिसंबर 2014 में भारत को 48 रन, नवंबर 2015 में न्यूजीलैंड को तीन विकेट, नवंबर 2016 में दक्षिण अफ्रीका को सात विकेट और दिसंबर 2017 में इंग्लैंड को 120 रन से हराया।
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने यहां दो टेस्ट में तीन शतक की मदद से 394 रन बनाए हैं। यहां उनका औसत 98.50 का रहा है। विराट एडिलेड में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों में दूसरे नंबर पर हैं। पहले पर राहुल द्रविड़ हैं। उन्होंने यहां चार टेस्ट में एक शतक की मदद 401 रन बनाए हैं। एडिलेड में सबसे ज्यादा औसत से रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज विजय हजारे हैं। उन्होंने यहां एक टेस्ट खेला, जिसमें 130.50 के औसत से 261 रन बनाए हैं।विराट कोहली ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में 1000 पूरे करने से आठ रन दूर हैं। भारतीय बल्लेबाजों में अब तक राहुल द्रविड़, वीवीएस लक्ष्मण और सचिन तेंडुलकर ही ऑस्ट्रेलिया में एक हजार या उससे ज्यादा रन बना पाए हैं। इस सूची में सचिन 1809 रनों के साथ सबसे आगे हैं। लक्ष्मण के नाम 1236 रन और द्रविड़ के नाम 1143 रन हैं।  विराट के ऑस्ट्रेलिया में आठ टेस्ट में 992 रन हैं।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com