जानिए कैसे हो सकते है आप 45 की उम्र में रिटायर !

प्राइवेट नौकरी हो या फिर सरकारी आज के समय में कोई भी लंबे समय तक काम करना पसंद नहीं करता

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : प्राइवेट नौकरी हो या फिर सरकारी आज के समय में कोई भी लंबे समय तक काम करना पसंद नहीं करता। हर कोई चाहता है कि 40 और 50 की उम्र के आस-पास ही उसको आराम की नौकरी मिल जाए, जिसमें बिना किसी टेंशन के उसका गुजारा चलता रहे। या फिर अगर आप जवानी में ही रिटायर होकर अपनी बाकी की जिंदगी आराम से काटना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक खास तरह के निवेश विकल्प को अपनाना होगा। ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आप 45 की उम्र के आसपास रिटायरमेंट लेकर आराम की जिंदगी काटने लग जाएं तो हम आपको एक खास तरह की निवेश रणनीति के बारे में बता रहे हैं।

अगर आप 25 वर्ष की उम्र से निवेश की शुरुआत करते हैं और चाहते हैं कि आप 45 वर्ष की उम्र में रिटायर हो जाएं तो इसके लिए आपको कम से कम 1 करोड़ रुपये का फंड जुटाना होगा, ताकि रिटायरमेंट के बाद आपकी बाकी की उम्र आराम से कट जाए। इस मकसद के लिए सिस्टमैटिक इन्वेस्मेंट प्लान (सिप) आपके लिए बेहतर निवेश विकल्प होगा।

मान लीजिए आप 25 वर्ष की उम्र में किसी बेहतरीन कॉरपोरेट कंपनी में अच्छे पद पर काम कर रहे हैं। जाहिर तौर पर आपकी सैलरी 60,000 रुपये से 80,000 रुपये के आसपास होगी या फिर आपकी सैलरी इससे भी थोड़ी ज्यादा हो सकती है। तो आप इस सैलरी में से 15,000 रुपये की मासिक बचत आराम से कर सकते हैं। अब आपको इस राशि को मासिक आधार पर सिस्टमैटिक इन्वेस्मेंट प्लान (सिप) में निवेश करना होगा। अगर आप इस निवेश को अगले 20 वर्षो तक यानी 45 वर्ष की उम्र तक जारी रखते हैं तो 15 फीसद के अनुमानित सालाना रिटर्न के लिहाज से आप इस उम्र तक 1 करोड़ रुपये का फंड जुटा चुके होंगे।

बिना काम किए आपको ऐसे होती रहेगी अच्छी-खासी मंथली इनकम: अब आप इस जमा हुए 1 करोड़ रुपये को तमाम तरह के निवेश विकल्पों में लगा सकते हैं जहां से आपको एक निश्चित मासिक आय होती रहेगी। इसके अलावा आप अपनी इस एक करोड़ की राशि को सिस्टमैटिक विदड्रॉअल प्लान में शिफ्ट भी कर सकते हैं।

जिस तरह आप किसी लिक्विड फंड में SIP करवाते हैं तो आपके बैंक खाते से हर महीने एक निश्चित राशि कटती रहती है। सिस्टमैटिक विदड्रॉअल प्लान (SWP) ठीक इसके उलट स्थिति है। यानी इसमें आपके खाते में हर महीने पैसे आते रहते हैं। सिस्टमैटिक विदड्रॉअल प्लान के लिए आपको म्युचुअल फंड कंपनी को जानकारी देनी होती है और एक फॉर्म भरना होता है। आपको कंपनी को बताना होता है आपके फंड को एसडब्ल्यूपी में बदला जाए। इसमें आपको यह भी बताना होता है कि आपको निकासी रिटर्न अमाउंट से करनी है या फिर रिटर्न+ कैपिटल से। आप इन दोनों में से किसी एक विकल्प का चुनाव कर सकते हैं। अगर आप पूरे 1 करोड़ को एसडब्ल्यूपी में ट्रांसफर करते हैं तो आपको औसतन 6 फीसद के सालाना विदड्रॉअल रेट के हिसाब से एक साल में 6 लाख यानी हर महीने 50,000 रुपये मिलना शुरु हो जाएंगे। छोटे-मोटे और सामान्य मासिक खर्चों के लिए 50,000 रुपये की मासिक राशि पर्याप्त होती है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com