महिला टी-20 वर्ल्ड कप : मिताली के शानदार पारी से भारत ने पाकिस्तान को 7 विकेट से हराया

भारतीय टीम ने पूर्व कप्तान मिताली राज (56) के जोरदार अर्धशतक के बदौलत 19 ओवरों में 3 विकेट खोकर 137 रन बनाते हुए जीत दर्ज की।

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ): आईसीसी महिला वर्ल्ड टी20 ग्रुप-बी के एक हाई वोल्टेज मुकाबले में भारत ने पाकिस्तान को 7 विकेट से हराकर बड़ी जीत दर्ज की। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर 7 विकेट पर 133 रन बनाए, जो उसका भारत के खिलाफ टी20 में सर्वाधिक स्कोर भी है। जवाब में भारतीय टीम ने पूर्व कप्तान मिताली राज (56) के जोरदार अर्धशतक के बदौलत 19 ओवरों में 3 विकेट खोकर 137 रन बनाते हुए जीत दर्ज की। मिताली ने अपनी शानदार पारी में 47 गेंद खेलीं और 7 चौके लगाए। उनके अलावा ओपनर स्मृति मंधाना ने 28 गेंदों में 26 रन की पारी खेली। विजयी चौका वेदा कृष्णमूर्ति ने लगाया। शानदार हाफ सेंचुरी लगाने वाली भारतीय बल्लेबाज मिताली को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। उल्लेखनीय है कि भारत और पाकिस्तान की महिला टीमें अब तक 11 बार एक-दूसरे से भिड़ चुकी हैं, जिसमें 9 बार भारत ने तो 2 बार पाकिस्तान ने जीत दर्ज की है। पाकिस्तानी पारी को संवारने वाली बिस्माह मारूफ (49 गेंदों पर 54) और निदा दार (35 गेंदों पर 52) ने हालांकि विकेट को नुकसान पहुंचाया, जिससे कारण उसकी टीम को दो बार पांच रन की पेनल्टी लगी। इस तरह से भारतीय पारी दस रन से शुरू हुई। मिताली राज (47 गेंदों पर 56 रन) और स्मृति मंधाना (28 गेंदों पर 26 रन) ने इन दस रन की मदद से पहले विकेट के लिए 73 रन जोड़कर भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई। न्यू जीलैंड के खिलाफ पिछले मैच में जीत की नायिका रही कप्तान हरमनप्रीत कौर ने नाबाद 14 रन बनाए, जिससे भारत ने 19 ओवर में तीन विकेट पर 137 रन बनाकर जीत दर्ज की। भारत अब ग्रुप-बी में चार अंक के साथ शीर्ष पर पहुंच गया है। पाकिस्तान की यह लगातार दूसरी हार है और उसके आगे बढ़ने की राह मुश्किल हो गई है। भारत अपना अगला मैच 15 नवंबर को आयरलैंड से खेलेगा। भारत ने न्यू जीलैंड के खिलाफ पिछले मैच में शीर्ष क्रम की बल्लेबाजी लाइन अप में बदलाव किए थे, लेकिन इस मैच में अनुभवी मिताली ही पारी की शुरुआत करने के लिए उतरी। पिछले छह मैचों में दोहरे अंक में पहुंचने में नाकाम रही मंधाना ने भी उनका पूरा साथ दिया। इन दोनों ने सहजता से रन बटोरे। अमूमन क्रीज पर पांव जमाने में थोड़ा समय लेने वाले मिताली ने डायना बेग के पहले ओवर में चौका जड़कर अपने इरादे जतला दिए थे, जबकि मंधाना ने अमन अमीन के अगले ओवर में दो खूबसूरत चौके लगाकर अपना आत्मविश्वास जगाया। मिताली ने अमीन और आलिया रियाज पर दो-दो चौके जमाए, जिससे 8वें ओवर में भारत 50 रन के पार पहुंचा। मंधाना विश्व टी20 में अपना सर्वोच्च स्कोर बनाने में सफल रही, लेकिन इसके तुरंत बाद वह डीप स्क्वेयर लेग पर कैच दे बैठी। उनका स्थान लेने के लिए आईं युवा जेमिमा रोड्रिगेज भी अपनी ख्याति के अनुरूप स्ट्रोक नहीं खेल पाई और 21 गेंदों पर 16 रन बनाकर निदा दार को वापस कैच देकर पविलियन लौटी। मिताली ने हालांकि रन बटोरने जारी रखे और अमीन पर मिडविकेट क्षेत्र में चौका जड़कर 42 गेंदों पर अपना 16वां अर्धशतक पूरा किया।
डायना बेग की गेंद पर जब उन्होंने डीप मिडविकेट पर कैच दिया तब भारत को 14 गेंदों पर केवल 7 रन की दरकार थी। मिताली ने अपनी पारी में सात चौके लगाए। हरमनप्रीत के साथ वेदा कृष्णमूर्ति 8 रन बनाकर नाबाद रहीं। मिताली को मैच की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया। इससे पहले अनुभवी बिस्माह मारूफ और निदा दार ने भारतीयों के लचर क्षेत्ररक्षण का पूरा फायदा उठाकर र्धशतक जमाए, जिससे पाकिस्तान ने शुरुआती झटकों से उबरकर 7 विकेट पर 133 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में सफल रहा। पाकिस्तान पर हालांकि ‘विकेट को नुकसान पहुंचाने’ के कारण दो बार पांच-पांच रनों की पेनल्टी लगाई गई और इस तरह से भारतीय टीम को पारी शुरू होने से पहले ही 10 रन मिल गए। बिस्माह ने 49 गेंदों पर 54 और निदा ने 35 गेंदों पर 52 रन बनाए। इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 94 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की, जिससे पाकिस्तानी टीम भारत के खिलाफ अपना सर्वोच्च स्कोर बनाने में सफल रही। भारत की तरफ से पूनम यादव और दयालन हेमलता ने दो-दो विकेट लिए। पहले मैच में न्यू जीलैंड पर 34 रन की धमाकेदार जीत दर्ज करने वाले भारत ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया और जल्द ही उसके तीन विकेट निकाल दिए। मध्यम गति की गेंदबाज अरुधंति रेड्डी के पहले ओवर में ही आयशा जफर (शून्य) ने अपना विकेट इनाम में दिया, जबकि उनका स्थान लेने के लिए उतरी उमैमा सोहेल (तीन) को जेमिमा रोड्रिगेज ने सीधे थ्रो पर रन आउट किया। अब पाकिस्तान की दो अनुभवी बल्लेबाज कप्तान जावरिया खान (17) और बिस्माह मारूफ क्रीज पर थी। जावरिया गेंदबाजों पर हावी होकर खेलने का प्रयास कर रही थी, लेकिन बिस्माह के साथ रन लेने की गफलत के कारण वह रन आउट हो गई। पाकिस्तान का स्कोर तीन विकेट पर 30 रन हो गया। इसके बाद बिस्माह और निदा दार ने बखूबी जिम्मेदारी संभाली। इनमें से निदा ने शुरू से ही आक्रामक रवैया अपनाया। दीप्ति शर्मा पर लगाया उनका छक्का दर्शनीय था। इस बीच हालांकि निदा ने भारतीयों के लचर क्षेत्ररक्षण का भी पूरा फायदा उठाया। उन्हें 15 और 29 रन के निजी योग पर जीवनदान मिला। पहले वेदा कृष्णमूर्ति ने और फिर पूनम यादव ने उनका आसान कैच छोड़ा। दोनों अवसरों पर गेंदबाज राधा यादव थी। पूनम ने इसके बाद बिस्माह का भी कैच टपकाया। तब वह 28 रन पर खेल रही थी। उन्होंने इस पूरा फायदा उठाकर अरुंधति पर लगातार दो चौके लगाकर पाकिस्तान का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया। बिस्माह ने 44 गेंदों पर अपने करियर का 7वां अर्धशतक पूरा किया। उन्हें हेमलता ने 19वें ओवर में कृष्णमूर्ति के हाथों कैच कराया। बिस्माह ने चार चौके लगाए। निदा ने अगली गेंद को मिडविकेट पर छह रन के लिए भेजकर अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। हरमनप्रीत ने हालांकि अगली गेंद पर उनका कैच लेने में गलती नहीं की। निदा की पारी में पांच चौके और दो छक्के शामिल हैं। पूनम ने भी अपने दोनों विकेट पारी के अंतिम ओवर में लिए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com