छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 18 सीटों पर मतदान आरंभ

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 18 सीटों पर सोमवार सुबह मतदान प्रारंभ हो गया। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने आजयहां बताया कि पहले चरण की 10 सीटों पर आज सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआजबकि आठ सीटों पर एक घंटे बाद आठ बजे से मतदान प्रारंभ हुआ।

अधिकारियों ने बताया कि नक्सल प्रभावित मोहला-मानपुर, अंतागढ़,भानुप्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, कोण्डागांव, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, बीजापुर और कोण्टा में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ तथा दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। वहीं विधानसभा क्षेत्र खैरागढ़, डोंगरगढ़, राजनांदगांव, डोंगरगांव, खुज्जी, बस्तर, जगदलपुर और चित्रकोट में सुबह आठ बजे मतदान प्रारंभ हुआ और शाम पांच बजे तक मतदान होगा। जिन विधानसभा क्षेत्रों में आज मतदान हो रहा है वहां सुबह से हीमतदाताओं की कतार लग गई थी और वे अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। मतदानप्रारंभ होने के बाद उन्होंने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सुबह मतदान करने के लिए महिला मतदाता भी बड़ी संख्या में मतदानकेंद्रों पर पहुंच गई थी।

वहीं, युवा मतदाताओं में उत्साह देखा गयाहै। इधर मतदान को प्रभावित करने के लिए नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिलेमें नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट किया। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दंतेवाड़ा जिले मेंनक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर सुरक्षा बलों को नुकसानपहुंचाने की कोशिश की। अधिकारियों ने बताया कि जिले के तुमाकपाल—नयानार मार्ग परनक्सलियों ने विस्फोट किया। इस घटना में किसी के भी हताहत होने की सूचना नहीं है।

मतदान दल सुरक्षित मतदान केंद्र तक पहुंच गया था। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया किराज्य की जिन 18 सीटों के लिये आज मतदान हो रहा है उसमें से 12 बस्तर क्षेत्र की और छह सीटें राजनांदगांव जिले की हैं। इन 18 विधानसभा सीट के लिए कुल 190 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनकी किस्मत का फैसला यहां के 31,80,014 मतदाता करेंगे। इनमें से पुरुष मतदाताओं की संख्या 15,57,435 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 16,22,492 है।

वहीं 87मतदाता तृतीय लिंग के हैं। अधिकारियों ने बताया कि प्रथम चरण में कुल मतदान केन्द्रों कीसंख्या 4336 है। उन्होंने बताया कि राज्य के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदानहोने के कारण सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं तथा सुरक्षा बल के लगभगसवा लाख जवानों को तैनात किया गया है। निर्वाचन अधिकारियों ने बताया कि राज्य में चुनाव कार्य के लिएकेंद्र से लगभग 65 हजार जवानों को यहां भेजा गया है, जिनमें अर्धसैनिक बलऔर पुलिस बल के जवान शामिल हैं। क्षेत्र में सुरक्षा बल के जवान लगातारगश्त में हैं तथा पड़ोसी राज्यों की पुलिस के साथ भी बेहतर तालमेल बनाकरअभियान चलाया जा रहा है। क्षेत्र में संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने केलिए मोबाइल चेक पोस्ट भी बनाया गया है।

पहले चरण की 18 सीटों में से 12 सीट अनुसूचित जनजाति के लिए तथाएक सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। जिन 18 सीटों पर आज मतदान हो रहा है उनमें से मुख्यमंत्री रमन सिंहकी सीट राजनांदगांव पर देश भर की नजर है। इस सीट पर सिंह के खिलाफ पूर्वप्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करूणा शुक्ला चुनाव मैदान मेंहै। शुक्ला को सिंह के खिलाफ प्रत्याशी बनाकर कांग्रेस ने वाजपेयी के नामपर भाजपा को मिलने वाले वोटों पर सेंध लगाने की कोशिश की है।

वहीं, पहले चरण के मतदान में मंत्री केदार कश्यप और महेश गागड़ानारायणपुर और बीजापुर से चुनाव मैदान में हैं तथा भाजपा सांसद विक्रमउसेंडी अंतागढ़ सीट से उम्मीदवार हैं। इधर कांग्रेस के नौ विधायक भानुप्रतापपुर से मनोज सिंह मंडावी,कोंडागांव से मोहन लाल मरकाम, बस्तर से लखेश्वर बघेल, चित्रकोट से दीपककुमार बैज, दंतेवाड़ा से देवती कर्मा, कोंटा से कवासी लखमा, खैरागढ़ सेगिरिवर जंघेल, केसकाल से संतराम नेताम और डोंगरगढ़ से दलेश्वर साहू केभाग्य का फैसला भी आज क्षेत्र के मतदाता करेंगे। राज्य में विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ ही यहां जीत के लिए सभीराजनीतिक दलों ने अपनी ताकत झोंक दी है।

पिछले चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपाको बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र की 18 सीटों में से केवल छह सीटों पर हीजीत मिली थी। राजनीतिक दलों ने यहां कई रैलियां की हैं। छत्तीसगढ़ में अभी तक भाजपा और कांग्रेस के मध्य मुकाबला होता आयाहै। लेकिन इस बार पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेसछत्तीसगढ़ :जे: और बहुजन समाज पार्टी गठबंधन भी चुनाव मैदान में है।

गठबंधन के कारण कई सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होने की संभावना है। राज्य में 20 नवंबर को शेष 72 सीटों के लिए वोट डाले जाएंगे। वहींवोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी। छत्तीसगढ़ में भाजपा पिछले 15 वर्षों से सत्ता में है और इस बारउसने 90 में से 65 सीटें जीतकर चौथी बार सरकार बनाने का लक्ष्य रखाहै। वहीं, कांग्रेस को भरोसा है इस बार उसे जीत मिलेगी और 15 वर्ष से चला आ रहा उसकावनवास समाप्त होगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com