“SC/ST Act” का दुरुपयोग करना पड़ा मंहगा, शिक्षिका को मिली ऐसी सजा



(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : जब केंद्र सरकार ने SCST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पलटते हुए अध्यादेश जारी किया था, उस समय कहा था कि इस एक्ट का दुरूपयोग नहीं होने दिया जाएगा. राज्य सरकारों ने भी आश्वासन दिया था कि एक्ट का दुरूपयोग करने वालों के खिलाफ कार्यवाई की जायेगी. अब SCST का दुरूपयोग करने वालों पर गाज गिरना शुरू हो गयी है. मामला बिहार का है जहाँ अपने प्रधानाध्यापक पर एससी-एसटी के तहत फर्जी मुकदमा करना एक शिक्षिका को काफी महंगा पड़ गया है।

मामले की जांच में शिकायत गलत पाए जाने पर जिला शिक्षा विभाग ने शिक्षिका की सेवा समाप्त करने का आदेश प्रखंड नियोजन इकाई को दिया है. मामला मध्य विद्यालय मटिहानी छौड़ाही का है. शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार छौड़ाही प्रखंड के मध्य विद्यालय मटिहानी में नियोजित प्रखंड शिक्षिका अनिता कुमारी द्वारा जुलाई 2017 में अपने विद्यालय के एचएम पर एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करावाया गया था. जिसकी प्रथम जांच डीएसपी स्तर से हुई. इसमें मुकदमा फर्जी साबित हुआ. मगर जिला पुलिस कप्तान उसमें कुछ कमी देखकर फिर से स्वयं मामले की जांच की. एसपी ने भी जांच-पड़ताल में मुकदमा फर्जी पाया था. जिसकी सूचना शिक्षा विभाग को भी उपलब्ध कराई गई. इधर, डीपीओ स्थापना द्वारा शिक्षिका की सेवा समाप्त करने के लिए छौड़ाही के प्रखंड विकास पदाधिकारी को आदेश दिया गया है।

मध्य विद्यालय मटिहानी छौड़ाही के एक शिक्षक ने बताया कि अनिता कुमारी का घर बेगूसराय शहर के बाघा में है. जिसके कारण उसे लंबी दूरी तय कर अपने नियोजन वाले स्कूल में जाना पड़ता है. लेट-लतीफी को लेकर अक्सर एचएम से उनकी कहा सुनी हो जाती थी. जिसके कारण शिक्षिका द्वारा एचएम के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करवाया गया था. इधर, शिक्षा विभाग के एक कर्मी ने बताया कि शिक्षिका मुकदमा दर्ज कराने के बाद से स्कूल नहीं जा रही थीं तथा बार-बार विभागीय पदाधिकारी को आवेदन देकर बेगूसराय सदर प्रखंड में ही कहीं पर प्रतिनियोजित करने की मांग कर रही थी. जिसके कारण डीपीओ स्थापना ने बीडीओ को कारण पृछा के बाद उसकी सेवा समाप्त करने का आदेश दिया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com