अध्यापक नसीरुद्द्दीन बच्चों को मिड डे मील में खिला रहा था गोमांस, स्थानीय हिन्दू कहते थे कि शिक्षक का कोई धर्म नहीं होता

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : असम। मजहबी उन्मादिता की जहरीली सोच तथा हिन्दुओं के प्रति वैमनस्यता का शर्मनाक तथा सनसनीखेज मामला असम के दरंग जिले से सामने आया है जहाँ के एक प्राथमिक स्कूल में मध्याह्न भोजन के दौरान गोमांस बनाने के लिए पुलिस ने स्कूल के प्रधान शिक्षक को गिरफ्तार किया है. प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के अल्पसंख्यक बहुल दलगांव इलाके के दक्षिण दुलियापार प्राथमिक स्कूल के प्रधान शिक्षक नसीरुद्दीन अहमद को स्कूल के रसोई घर में गोमांस पकाने के लिए गिरफ्तार किया।

जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी(डीईईओ) द्वारा दर्ज की गई प्राथमिकी के आधार पर अहमद को गिरफ्तार किया गया. अहमद पर विभिन्न धर्मों के लोगों के बीच नफरत फैलाने का आरोप है. डीईईओ ने कहा कि अहमद को स्कूल नियमों के खिलाफ कार्य करने तथा सामाजिक ताने-बाने को नष्ट करने के चलते तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि स्कूल में गोमांस पकाया गया था, यह सीधे-सीधे स्कूल नियमों का उल्लंघन है. इस कारण हमारे पास अहमद को निलंबित करने के सिवाय कोई चारा नहीं था।

उन्होंने कहा कि इससे सांप्रदायिक माहौल बिगड़ने की आशंका के चलते शिक्षा विभाग की ओर से पुलिस को इसकी सूचना दी गई थी. आधिकारिक निलंबन में डीईईओ ने कहा कि सामुदायिक शिकायत मिलने के बाद प्रारंभिक जांच में पाया गया कि अहमद ने स्कूल में आपत्तिजनक खाद्य अर्थात गोमांस बनाने का कार्य किया और इससे बच्चों को मध्याह्न भोजन से वंचित होना पड़ा। प्रधानध्यापक पर गोमांस बनाने में बच्चों का इस्तेमाल किए जाने का भी आरोप है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com