गुरुग्राम हत्याकांड में बड़ा ख़ुलासा : धर्म परिवर्तन की बहस को लेकर महिपाल ने मां-बेटे पर चलाई गोलियां

मार्केट के बीच कार रोककर जैसे ही मां-बेटे बाहर निकले महिपाल ने उन पर गोली चला दी



(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ)  : गुरुग्राम में शनिवार दोपहर अतिरिक्त जिला एवं सत्र जज कृष्णकांत की पत्नी और बेटे को उनके ही सुरक्षा गार्ड ने बाजार के बीच गोलियों से छलनी कर दिया। वारदात के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान जज की पत्नी रितु की मौत हो गई। वहीं, जज का बेटा ध्रुव जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहा है।पुलिस ने सुरक्षा गार्ड महिपाल को गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है। मामले के गंभीरता से लेते हुए हरियाणा पुलिस ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है। डीसीपी सुलोचना गजराज के नेतृत्व में बनी इस SIT में डीसीपी, 2 एसीपी, और 4 इंस्पेक्टर शामिल हैं।यह घटना शनिवार दोपहर करीब 3।30 बजे की है। जज के परिवार की सुरक्षा में तैनात गार्ड महिपाल यादव के साथ उनकी पत्नी रितु और बेटे ध्रुव खरीदारी के लिए गुरुग्राम के सेक्टर-51 स्थित आर्केडिया मार्केट आए थे। मार्केट के बीच कार रोककर जैसे ही मां-बेटे बाहर निकले महिपाल ने उन पर गोली चला दी।जानकारी के मुताबिक महिपाल ने रितु के सीने में दो गोलियां मारी और बेटे ध्रुव के माथे पर भी दो गोली मारी। इस दौरान महिपाल ने मौके पर मौजूद लोगों से कहा कि कोई भी बीच में नहीं आएगा, ये शैतान (बेटा ध्रुव) है और ये उसकी मां (रितु)। इसके बाद महिपाल ने दोनों को कार में डालने की कोशिश की लेकिन इसमें असफल रहने पर वो वहां से फरार हो गया।महिपाल इसके बाद सदर थाने पहुंचा, जहां पर उसने फायरिंग की। इसके बाद वहां से भी भाग निकला। पुलिस ने नाकेबंदी कर गुड़गांव-फरीदाबाद रोड पर ग्वाल पहाड़ी के पास उसे पकड़ लिया। पुलिस पूछताछ में महिपाल ने बताया कि उसने मां-बेटे को गोली मारने के बाद जज और अपनी मां को फोन किया था और वारदात की जानकारी दी थी।इधर, मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया था, जिसके बाद हालत ज्यादा बिगड़ने पर दोनों को मेदांता रेफर कर दिया गया। देर रात इलाज के दौरान जज की पत्नी रितु की मौत हो गई। हालांकि, महिपाल ने ऐसा क्यों किया, यह साफ नहीं हो पाया है। गुड़गांव के कमिश्नर ने बताया कि पूछताछ में महिपाल झल्लाकर बात करता है और सही जवाब नहीं दे रहा है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 40 वर्षीय महिपाल यादव डेढ़ साल से जज कृष्णकांत की सुरक्षा में तैनात था। करीब 8 महीने पहले ही उसने हिन्दू धर्म को त्याग कर क्रिश्चियन धर्म अपनाया था। बताया जा रहा है कि धार्मिक बातों पर जज की पत्नी के साथ उसकी बहस होती थी। पुलिस हिरासत में भी महिपाल कह रहा था कि धर्म परिवर्तन को लेकर जज की पत्नी उसे परेशान करती थी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com