कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, 5 बार के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- “अलविदा कांग्रेस”

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : मेघालय। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल 2019 में मोदी तथा भारतीय जनता पार्टी को रोकने के लिये तमाम प्रयास कर रहे हैं तथा इसके लिए महागठबंधन बनाने की बात कर रहे हैं लेकिन इसके बाद भी कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. राहुल गांधी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ महागठबंधन की बात तो कर रहे हैं लेकिन खुद कांग्रेस के बिखरते कुनबे को नहीं संभाल पा रहे हैं. महागठबंधन की तैयारियों के बीच कांग्रेस को अपने ही घर से बड़ा झटका लगा है.

आपको बता दें कि मेघालय में कांग्रेस के कद्दावर नेता तथा पांच बार मेघालय के मुख्यमंत्री रहे डोनवा देथवेल्सन लपांग ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. इस खबर से पार्टी में हड़कंप मच गया है. लपांग ने पार्टी नेतृत्व पर ‘वरिष्ठ नेताओं’ को दरकिनार करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को गुरुवार रात भेजे इस्तीफे में लपांग ने कहा कि वह ”अनिच्छा और भारी मन से इस्तीफा दे रहे हैं.”मेघालय प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एमपीसीसी) के पूर्व प्रमुख ने एआईसीसी पर वरिष्ठ एवं बुजुर्ग लोगों को दरकिनार करने की नीति पर चलने का आरोप लगाया.इस्तीफे वाले पत्र में उन्होंने कहा, ” मुझे लगता है कि अब वरिष्ठ एवं बुजुर्ग लोगों की सेवा एवं योगदान पार्टी के लिए उपयोगी नहीं रह गई हैं.”इस्तीफे की प्रतियां उन्होंने मीडिया को भी उपलब्ध कराईं.

लपांग ने कहा, ”इस प्रतिबंध ने मुझे निराश कर दिया और मुझे पार्टी से अलग होने पर मजबूर कर दिया.” लपांग पहली बार 1992 में मेघालय के मुख्यमंत्री बने थे. इसके बाद वह 2003,2007 और 2009 में मुख्यमंत्री पद पर काबिज हुए. एआईसीसी के मेघालय के प्रभारी महासचिव लुइजिन्हो फलेरो ने कहा कि वह पिछले तीन साल से लपांग से नहीं मिले हैं.वहीं एमपीसीसी के अध्यक्ष सेलिस्टिन लिंग्दोह ने लपांग के पार्टी छोड़ने के निर्णय पर हैरानी जताई है. उन्होंने कहा, ”हम कोशिश करेंगे और देखेंगे अगर जल्द से जल्द मामले को निपटाया जा सके.”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com