क्या होता है जमीन के नीचे खेती करने का इंडोर वर्टिकल फार्मिंग का कंसेप्‍ट

वर्टिकल फार्मिंग का कंंसेप्‍ट दक्षिण कोरिया में 2015 में ही आ गया था

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : दक्षिण कोरिया तकनीकी तौर पर पूरी दुनिया में अपनी साख जमा चुका है। इसके बाद भी कृषि की जमीन कम होने की वजह से वह इस क्षेत्र में मात खा रहा था। इसकी भरपाई करने में अब यहां पर इंडोर वर्टिकल फार्म का कंसेप्‍ट सामने आया है। इंडोर वर्टिकल कंसेप्‍ट का अर्थ दरअसल, जमीन के नीचे खेती करना है। दरअसल, वर्टिकल फार्म उन जगहों के लिए एक वरदान है जहां पर खेती के लिए जगह कम है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि यह अपनी तरह का पहला प्रयोग है जो जमीन के अंदर एक सुरंग में किया गया है। इसके अलावा वर्टिकल फार्मिंग का कंंसेप्‍ट दक्षिण कोरिया में 2015 में ही आ गया था। आज तकनीकी तौर पर इस देश का पूरी दुनिया में बोल-बाला है।इंडोर वर्टिकल फार्म पर आगे बढ़ने से पहले आपको इस देश के बारे में शुरुआती जानकारी दे दें। यह कोरियाई प्रायद्वीप के दक्षिणी भाग को घेरे हुए है। उत्तर कोरिया, इस देश की सीमा से लगता एकमात्र देश है, जिसकी दक्षिण कोरिया के साथ 238 किमी लंबी सीमा है। इस देश का करीब दो-तिहाई हिस्‍सा पहाड़ी क्षेत्र है, इसी वजह से यहां पर खेती के लिए जमीन कम उपलब्‍ध है। इसी कमी को यहां पर पूरा करने के लिए वर्टिकल फार्म का कंसेप्‍ट सामने आया है। आपको बता दें कि कोरियाई युद्ध की विभीषिका झेल चुका दक्षिण कोरिया वर्तमान में एक विकसित देश है। जीडीपी या सकल घरेलू उत्पाद के आधार पर यह देश विश्व की तेरहवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।यहां पर आपको ये भी बता दें कि इस कंसेप्‍ट पर न्यूजर्सी समेत दूसरी जगहों पर भी काम चल रहा है। न्‍यूजर्सी के के एयरो में 70,000 वर्गफुट में स्मार्ट फार्म के जरिए कई तरह के फल-सब्जी उगाये जा रहे हैं। वहीं सिएटल के प्लेंटी में 1 लाख वर्गफुट पर स्मार्ट फार्म का निर्माण जारी है। न्यूजर्सी का बोवेरी फार्म तो तकनीक में और आगे निकल चुका है जहां रोबोट से खेती होती है। स्‍कॉटलैंड में भी स्‍कॉटिश एग्रीटेक कंपनी इसी तरह से काम कर रही है। इसको वर्ल्‍ड मोस्‍ट एडवांस्‍ड इंडोर फार्म का दर्जा कहा गया था। दक्षिण कोरिया में खेती करने का यह स्मार्ट तरीका अपने आप में ही एक मिसाल है। यहां के ओकेचेन में 190 किमी लंबी सुरंग में बना वर्टिकल फार्म वहां का सबसे बड़ा फार्म है। नेक्स्टऑन कंपनी ने 48 साल पुरानी बंद पड़ी सुरंग में इसे बनाया है। इसमें 60 तरह के फल और सब्जियां उगाई जा रही हैं। इस कंपनी के प्रमुख चोई जेई बिन का कहना है कि यहां उगाई जा रही फसलों में से 47 किस्में ऑर्गेनिक हैं। आपको जानकर हैरत होगी कि यहां पर पैदावार बढ़ाने के लिए यहां पर क्लासिकल संगीत भी बजाया जाता है। हाल ही में यहां पर उगाई गई पहली फसल को हासिल किया गया। कंपनी इस सुरंग के पूरे हिस्‍से पर फिलहाल खेती नहीं कर रही है। इस सुरंग का अभी दो-तिहाई हिस्‍सा खाली है। इस सुरंग के बचे हुए हिस्‍से पर फल और दवा में काम आने वाले पौधे लगाए जाएंगे।दक्षिण कोरिया के कृषि मंत्रालय ने स्मार्ट फार्म का दायरा दोगुना करने की घोषणा की है। फिलहाल यह करीब 10 हजार एकड़ में हैं, इन्हें 18 हजार एकड़ में फैलाया जाएगा। सरकार इसके लिए सब्सिडी भी देगी। इस फार्म के पीछे दक्षिण कोरिया का लगातार विकास करते जाना भी है। दरअसल जिस तर्ज पर यह देश तरक्‍की कर रहा है उसके चलते यहां पर केवल 16 फीसद जमीन ही खेती के लिए खाली है। कंपनी का कहना है कि वर्टिकल फार्म में खेती करने पर खर्च भी कम आता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com