13 साल बाद हुआ एक “इसाई धर्म परिवर्तन केन्द्र” का खुलासा…धन का लोभ देकर जबरन कराते थे धर्म परिवर्तन!!

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : बिहार। जिले के एक किराना दुकानदार चरण सिंह के मकान में चल रहे एक इसाई धर्म परिवर्तन केन्द्र का खुलासा होने के बाद शहर में सनसनी फैल गई। लोगों की शिकायत पर पुलिस ने मौके से एक दर्जन महिला सहित 25 लोगों काे हिरासत में लिया। पुलिस ने उस मकान को भी सील कर दिया जहां, अंधविश्वास की आड़ में धर्म परिवर्तन का खेल चल रहा था। केन्द्र से भारी संख्या में इसाई धर्म के प्रचार से संबंधित किताबें, प्रचार की अन्य सामग्रियां बरामद की गई हैं। अंधविश्वास की आड़ में कराए जा रहे धर्म परिवर्तन के इस खेल की जानकारी विश्व हिन्दू परिषद और भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं को मिली तो उसने पुलिस को इसकी सूचना दी। इस सिलसिले में धर्म परिवर्तन का कार्य करने वाले मुख्य संचालक खगड़िया निवासी पति-पत्नी को भी पुलिस ने पूछताछ के लिए थाना लाया है। 

सहरसा जिले के सदर थाना क्षेत्र के शारदा नगर वार्ड नंबर 27 स्थित भाड़े के मकान में 2005 से धर्म परिवर्तन का खेल चल रहा था। उक्त मकान स्थानीय स्टेशन रोड निवासी चरण सिंह का है। वह भी हिंदू धर्म से परिवर्तन कर इसाई धर्म कबूल कर चुकी है। मुख्य संचालक कृष्णदेव यादव ने बताया कि चरण सिंह को उनके प्रवचन से उन्हें संतान का सुख मिला था।

लोगों ने बताया कि सहरसा में यह खेल 2005 से ही गुपचुप ढंग से चल रहा है। रविवार को बटराहा इलाके में उक्त स्थल पर विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, हिन्दू के कई संगठनों के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने जब लामबंद होकर विरोध करने लगे, तब इसकी सूचना सदर पुलिस को मिली। छापेमारी में लगभग 25 हिन्दू और कुछ मुस्लिम, जिन्होंने धर्म परिवर्तन कर इसाई धर्म कबूल किया उसे पुलिस पूछताछ के लिए तत्काल थाना लाई। वहीं खगड़िया जिले के बदला घाट निवासी मुख्य सरगना कृष्णदेव यादव के साथ पटना जिला के नौबतपुर के रहने वाले गोरखनाथ को भी पुलिस ने फिलहाल हिरासत में ले लिया है। कृष्णदेव यादव एवं उसकी पत्नी सहरसा स्थित कार्यालय के मुख्य संचालक है।

छापेमारी में कमरे से ईसा मसीह और ईसाई धर्म के प्रचार-प्रसार के लिए लाई गई 100 किताबों का बंडल मिला। साथ ही मकान में बने एक बड़े हाॅल, जिसमें कृष्णदेवराय प्रवचन देकर लोगों को हिंदू धर्म को छोड़कर ईसा मसीह के शरण में जाने का संदेश सुनाते थे, उस हॉल से कई प्रचार सामग्री बरामद हुई। ईसाई धर्म प्रचार की कई सीडी व कैसेट सहित अन्य सामान भी बरामद हुए। धर्म परिवर्तन कराने वाले मुख्य संचालक खगड़िया निवासी कृष्ण देव यादव लोगों की कमजोरी को पढ़कर उसका इलाज करते थे, जिसमें किसी को बरसों से आ रही बीमारी का उपाय करने का वचन, तो किसी को पारिवारिक परेशानी से छुटकारा दिलाने का भरोसा, संतान प्राप्ति का लोभ व संपत्ति देने का लालच देने सहित कई अन्य प्रलोभन देकर एवं कुछ प्रलोभनों को पूर्ति करा कर भी धर्म परिवर्तन के लिए मानसिक रूप लोगों को धर्म परिवर्तन के लिए तैयार करते थे। 

सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। मामला गम्भीर है। धन का लोभ देकर जबरन धर्म परिवर्तन कराने का प्रयास किया गया है या नहीं यह पूछताछ और जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। जांच के बाद जो सच सामने आएगा, वैसी कार्रवाई होगी। 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com