अमेरिकी सेना ने मुल्ला फजलुल्लाह को ड्रोन स्ट्राइक में मौत के घाट उतारा

आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के सरगना मुल्ला फजलुल्लाह को ड्रोन स्टाइक कर मार गिराने के बाद अमेरिकी सेना ने राहत की सांस ली है।

(एनएलएन मिडिया-न्यूज़ लाइव नाउ ): आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के सरगना मुल्ला फजलुल्लाह को ड्रोन स्टाइक कर मार गिराने के बाद अमेरिकी सेना ने राहत की सांस ली है। अमेरिकी सेना ने दावा किया है कि 13 जून को अफगानिस्तान-पाकिस्तान बॉर्डर पर कुनार प्रांत में हमले में फजलुल्लाह उर्फ मुल्ला रेडियो मारा गया। बताया जा रहा है कि जब अमेरिकी ड्रोन ने हमला किया तो फजलुल्लाह और उसके कमांडर इफ्तार पार्टी कर रहे थे। फजलुल्लाह ने नोबल पीस प्राइज विजेता मलाला को भी मरवाने की कोशिश की थी। मुल्ला फजलुल्लाह पर पेशावर के आर्मी स्कूल में हुए अटैक में शामिल होने समेत कई और बड़े आतंकी हमले कराने का का आरोप है। अमेरिकी आर्मी ऑफिसर कर्नल मार्टिन ओडैनियल ने बताया कि आतंकियों के खात्मे के लिए 13 जून को ड्रोन हमले अफगानिस्तान के कनूर में किए गए थे। इसी हमले में आतंकी मुल्ला फजलुल्लाह की मौत हुई। कनूर पाकिस्तान-अफगानिस्तान सीमा से लगा हुआ क्षेत्र है। टीटीपी सरगना मुल्ला फजलुल्लाह अमेरिकी की मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में था और उस पर करीब 50 लाख डॉलर (32.5 करोड़ रुपये) का इनाम था। फजलुल्लाह पाकिस्तान में कई खूनी हमले और साल 2010 में न्यू यॉर्क में टाइम्स स्क्वॉयर कार बम विस्फोट की कोशिश में शामिल था। पाकिस्तानी अधिकारियों के अनुसार कई आक्रामक अभियान के बाद तहरीक ए तालिबान को पाकिस्तान से खदेड़ दिया गया, जिसके बाद फजलुल्लाह अफगानिस्तान में छिपा हुआ था। 2013 में वह टीटीपी का सरगना बना। इसके अगले ही साल उसने पेशावर स्कूल हमले की साजिश रची, जिसमें 130 बच्चों समेत 151 लोग मारे गए थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com