मर्चेंट पोत में लगी आग, नेवी का बचाव अभियान शुरू

भारतीय मर्चेंट पोत एमवी नलिनी में आग लगने से दक्षिणी नौसेना कमान सक्रिय हुआ

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : भारतीय मर्चेंट पोत एमवी नलिनी में आग लगने से दक्षिणी नौसेना कमान सक्रिय हुआ। यह मर्चेंट पोत कोच्चि से दक्षिण-पश्चिम की ओर 14.5 नॉटिकल मील की दूरी पर लंगर डाले हुए था। बताया जा रहा है कि इस हादसे में चालक दल का एक सदस्य 80 प्रतिशत झुलस गया है। आग लगने की इस घटना से पोत की बिजली चली गई और यह आगे बढ़ने में असमर्थ हो गया है।केरल के कोच्चि शहर में समुद्री सीमा के पास, एक मर्चेन्ट जहाज के कंट्रोल रूम में आग लग जाने की वजह से, एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया है। लोगों को तत्काल जहाज से बाहर निकालने के लिए कोस्ट गार्ड्स ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया है। एमवी नलिनी नाम के इस जहाज में सवार क्रू मेंबर्स में से एक सदस्य अस्सी प्रतिशत तक जल गया है। इस जहाज में करीब बाइस लोग सवार थे। यह शिप कोच्चि के दक्षिणी-पूर्वी तट से 14.5 न्यूटिकल माइंस की दूरी पर थी।चालक दल के 22 सदस्यों के साथ जहाज से प्राप्त एक संदेश का हवाला देते हुए रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि पोत में आग लगने से एक सदस्य 80 फीसदी जल गया है।रासायनिक टैंकर, जो मुद्रा पोर्ट [गुजरात] से कोलंबो जा रहा था वह नेफ्था ले जा रहा था, तभी बुधवार को 8.30 बजे विस्फोट के बाद इंजन रूम में आग लगी। उस समय पोत पर चालक दल के 22 सदस्य थे। नौसेना और तट रक्षक ने बचाव अभियान शुरू किया है। कोस्ट गार्ड ने बचाव अभियान के लिए अपनी ‘चार्ली नाव’ तैनात की है।पोत से चालक दल के सदस्यों को तुरंत निकालने का प्रयास किया जा रहा है। इस दिशा में दक्षिणी नौसेना कमान सक्रिय हो गया है। उसने राहत एवं बचाव कार्य के लिए अपने एक एएलएच हेलीकॉप्टर को रवाना कर दिया है। नौसेना कमान यह भी देख रहा है कि चालक दल के सदस्यों को पोत से बाहर निकालने के लिए यदि जरूरत पड़ी तो वह 42सी हेलीकॉप्टर की सेवा भी लेगा।दक्षिणी नौसेना कमान के एक प्रवक्ता ने कहा कि यदि सभी चालक दल के सदस्यों को निकालने की आवश्यकता है तो वह सी किंग हेलीकॉप्टर को सेवा में लगाएगा। प्रवक्ता ने कहा, ‘हमें सूचित किया गया था कि अब तक केवल एक व्यक्ति को गंभीर जलने का सामना करना पड़ा है।’ ‘अगर हम जहाज से अनुरोध प्राप्त करते हैं तो हम पूरे दल को सुरक्षित निकाल लेंगे। सहायता प्रदान करने के लिए हमने पहले ही आईएनएस कल्पनी भेज दी है।’दक्षिणी नौसेना कमान के अलावा राहत एवं बचाव कार्य में भारतीय तटरक्षक बल भी जुट गया है। तटरक्षक बल ने अपने (इंटरसेप्टर क्राफ्ट) ‘चार्ली’ को रवाना किया है। इस बीच कोचिन पोर्ट ट्रस्ट ने भी एक खींचने वाली नौका को रवाना किया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com