सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक बिंदेश्वर पाठक को निक्की एशिया पुरस्कार से नवाजा गया

इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और इंफोसिस के चैयरमैन नारायण मूर्ति को भी यह पुरस्कार मिल चुका है

(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक और प्रतिष्ठित समाजसेवी बिंदेश्वर पाठक को जापान के प्रतिष्ठित निक्की एशिया पुरस्कार से सम्मानित किया गया| बिंदेश्वर पाठक के सस्ते फ्लश तकनीक वाले कम कीमत के पर्यावरण अनुकूल शौचालय ने दुनिया के लाखों लोगों की मदद की| सुलभ शौचालय के निर्माण ने सिर पर मैला ढोने से मुक्ति दिलाई और ग्रामीण महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में मील का पत्थर साबित हुई| इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और इंफोसिस के चैयरमैन नारायण मूर्ति को भी यह पुरस्कार मिल चुका है| समिति के मुताबिक पाठक को यह पुरस्कार देश की दो सबसे बड़ी चुनौतियों स्वच्छता और भेदभाव के क्षेत्र में उनके कार्यों के लिए दिया गया है|

टोक्यो में आयोजित एक समारोह में पाठक को पुरस्कार समिति के अध्यक्ष फुजिओ मितारई ने पुरस्कार प्रदान किया| निक्की एशिया पुरस्कार से नवाजे जाने के बाद अपनी प्रतिक्रिया देते हुए बिंदेश्वर पाठक ने कहा कि, यह पुरस्कार विशेषकर एशिया में समाज सेवा के क्षेत्र में मेरी प्रतिबद्धता के लिए एक और मील का पत्थर है| मितारई ने कहा कि पाठक को यह पुरस्कार देश की दो सबसे बड़ी चुनौतियों स्वच्छता और भेदभाव से निपटने  के लिए प्रदान किया जा रहा है| यह पुरस्कार क्षेत्रीय उन्नति, विज्ञान, तकनीकी एवं नवाचार और संस्कृति एवं समुदाय के तीन क्षेत्रों में से एक क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान करने के लिए एशिया के लोगों को प्रदान किया जाता है|

इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और इंफोसिस के चैयरमैन नारायण मूर्ति जैसे भारत के अहम नाम हैं जिन्हें यह पुरस्कार मिल चुका है| पाठक के सस्ती ‘ फ्लश ’ तकनीक वाले कम कीमत के पर्यावरण अनुकूल शौचालय ने दुनिया के लाखों लोगों की मदद की| इसने सिर पर मैला ढोने से मुक्ति दिलायी और ग्रामीण महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित की जिसके चलते अंतर्राष्ट्रीय पहचान बना चुके सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक समाजसेवी बिंदेश्वर पाठक को इस सम्मान  नवाजा गया| इससे पूर्व पाठक को भारत सरकार द्वारा 1991 में पद्मभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया| वर्ष 2003 में पाठक का नाम विश्व के 500 उत्कृष्ट सामाजिक कार्य करने वाले व्यक्तियों की सूची में शामिल किया गया| एनर्जी ग्लोब पुरस्कार, इंदिरा गांधी पुरस्कार, स्टाकहोम वाटर पुरस्कार समेत अनेक पुरस्कारों से इन्हें सम्मानित किया जा चुका है|

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com