मुंबई : बाढ़ की आशंका के चलते नौसेना को किया गया तैनात, शहर में हाई अलर्ट जारी

आपदा से निपटने के लिए बड़े अफसरों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं



(एनएलएन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : मुंबई में बारिश का कहर जारी है। मौसम विभाग का दावा है कि अगले एक दो दिन में स्थिति और भयावह हो सकती है। इसके मद्देनजर पूरे मुंबई में अलर्ट जारी कर दिया गया है। आपदा से निपटने के लिए बड़े अफसरों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। एहतियात के तौर पर मुंबई में बचाव कार्य के लिए नौसेना के साथ एनडीआरएफ की टीमों को तैनात किया गया है। लोगों से घर के बाहर की गतिविधियां सीमित रखने और मौसम पर नजर रखने को कहा गया है। उधर, मौसम विभाग का दावा है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून की रफ्तार तेज होने के आसार हैं। 9 जून से मानसून पश्चिम बंगाल व ओडिशा में सक्रिय हो जाएगा।मुंबई में अगले कुछ दिनों में भारी वर्षा की संभावना को देखते हुए बीएमसी ने उससे निपटने की तैयारियां शुरू कर दी है। इस सप्ताहांत (9 से 1 जून) तक मुंबई व महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा का अनुमान जताया है। इसे देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। एनडीआरएफ की तीन टीमों को परेल, मानखुर्द, अंधेरी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में ठहराया गया है। उनके पास वॉकी-टॉकी व बाढ़ राहत के उपकरण हैं। इसके अलावा कोलाबा, वर्ली, घाटकोपर, ट्रॉम्बे, मलाव में नौसेना के जवानों को बचाव व राहत के लिए तैनात कर दिया गया है। 247 स्कूलों में राहत शिविर बनाए गए हैं। केरल फिर तरबतर 29 मई को मानसून के आगमन के बाद केरल एक बार फिर तरबतर हो गया है।उधर, मुंबई में मानसून का कहर अनवरत जारी है। बुधवार रात से भारी बारिश के कारण मुंबई में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। दादर, परेल, कफ परेड, बांद्रा, बोरिवली और अंधेरी में पानी जमा हो गया। लोकल ट्रेनें देरी से चलीं। अगले तीन दिन भारी बारिश के मुंबई में बुधवार-गुरुवार को हुई बारिश प्री मानसून की है, लेकिन मौसम विभाग ने कोंकण तट पर मानसून के पहुंचने की जानकारी दी है।केरल में भी भारी बारिश केरल में दक्षिण पश्चिम मानसून सक्रिय होने के बाद भारी बारिश हुई है। तिरवनंतपुर में गुरुवार सुबह 8:30 बजे 45.8 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की गई। अगले पांच दिनों तक राज्य में वर्षा जारी रहेगी। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना उधर, बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। यह जल्द दबाव के क्षेत्र में बदल सकता है। इस कारण पश्चिम बंगाल व ओडिशा में मानसून के रफ्तार पकड़ने के आसार हैं।उधर, एजेंसी बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से दक्षिण-पश्चिम मानसून की रफ्तार तेज होने के आसार हैं। 9 जून से मानसून पश्चिम बंगाल व ओडिशा में सक्रिय हो जाएगा। इधर मुंबई में अगले कुछ दिनों में भारी वर्षा की संभावना को देखते हुए बीएमसी ने उससे निपटने की तैयारियां शुरू कर दी है। मानसून के प्रवेश केंद्र केरल में एक बार फिर झमाझम का दौर शुरू हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार कम दबाव का क्षेत्र दबाव के क्षेत्र में तब्दील होगा और उत्तर-उत्तर पश्चिमी क्षेत्र में बढ़ेगा। इससे बंगाल व ओडिशा के कई इलाकों में भारी वर्षा हो सकती है। गांगेय क्षेत्र में मानसून 9 जून तक पहुंचता है।कम दबाव क्षेत्र बनने से इसके आगे बढ़ने की परिस्थति बन गई है। इस सप्ताहांत (9 से 1 जून) तक मुंबई व महाराष्ट्र के कई जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा का अनुमान जताया है। इसे देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com