नए चेयरमैन के लिए ICICI बैंक की तलाश जारी, कई दिग्गजों ने किया इनकार

सीईओ चंदा कोचर के विवाद में घिरे आईसीआईसीआई बैंक का बोर्ड एमके शर्मा की जगह नए चेयरमैन की तलाश शुरू कर चुका है।



(एनएलएन मिडिया -न्यूज़ लाइव नाउ) : सीईओ चंदा कोचर के विवाद में घिरे आईसीआईसीआई बैंक का बोर्ड एमके शर्मा की जगह नए चेयरमैन की तलाश शुरू कर चुका है। शर्मा का कार्यकाल इस महीने खत्म हो रहा है और वह शायद दूसरा टर्म नहीं चाहते। बैंक के चेयरमैन बनने की रेस में बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर एम.डी माल्या सबसे आगे चल रहे हैं। इस मामले से वाकिफ दो सूत्रों ने यह जानकारी दी है। एक सूत्र ने बताया, ‘बोर्ड का मानना है कि आईसीआईसीआई बैंक को क्राइसिस के मौजूदा दौर में एक योग्य पूर्व बैंकर की जरूरत है। अभी तक कुछ भी फाइनल नहीं हुआ है, लेकिन माल्या फेवरेट दिख रहे हैं।’ सूत्रों ने इकनॉमिक टाइम्स को यह भी बताया कि कुछ बोर्ड मेंबर 70 साल के मौजूदा चेयरमैन को पद पर कुछ समय तक बनाए रखना चाहते हैं, लेकिन शर्मा ऐसा नहीं चाहते। उन्हें 1 जुलाई 2015 को तीन साल के लिए बैंक का नॉन-एग्जिक्युटिव चेयरमैन बनाया गया था। कानून के मुताबिक, नॉन-एग्जिक्युटिव डायरेक्टर के अप्वाइंटमेंट के लिए अधिकतम उम्र 75 साल तय है। इस मामले से वाकिफ सूत्रों ने बताया कि बोर्ड ने पहले चेयरमैन पद के लिए एक नाम रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पास भेजा था, जिस पर उसने आपत्ति जाहिर की थी। हालांकि, यह पता नहीं लग पाया है कि किसका नाम बोर्ड ने भेजा था। एक शख्स ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया, ‘बोर्ड और आरबीआई के बीच इस तरह की बातचीत चलती रहती है। ऐसे फैसले जल्दबाजी में नहीं होते। हम इस बारे में निकट भविष्य में कोई निर्णय लेंगे।’ इस खबर के लिए ईमेल से पूछे गए सवालों का आईसीआईसीआई बैंक से जवाब नहीं मिला। अप्रैल में माल्या सहित बैंक ऑफ बड़ौदा के कुछ अन्य पूर्व अधिकारियों से सीबीआई ने 3,600 करोड़ रुपये के रोटोमैक फ्रॉड केस में पूछताछ की थी।

चंदा कोचर विवाद के चलते दिग्गजों ने ठुकराया ऑफर : माल्या के आईसीआईसीआई बैंक का चेयरमैन बनने में यह मामला आड़े आ सकता है या नहीं, यह पता नहीं चला है। सूत्रों ने बताया कि आईसीआईसीआई बैंक ने चेयरमैन पद के लिए कई जाने-माने उद्योगपतियों और सीनियर रिटायर्ड बैंकरों से संपर्क किया था, लेकिन सीईओ चंदा कोचर को लेकर चल रहे विवाद की वजह से ज्यादातर ने यह ऑफर ठुकरा दिया। शर्मा की अगुवाई वाले बोर्ड की सीईओ चंदा कोचर का समर्थन करने के लिए पहले आलोचना हो चुकी है।

बोर्ड ने चंदा कोचर को दी है क्लीन चिट : पिछले हफ्ते बोर्ड ने चंदा कोचर की जांच का आदेश दिया, लेकिन 28 मार्च को उसने उन्हें कथित गड़बड़ियों से क्लीन चिट दे दी थी। चंदा कोचर पर कथित तौर पर आचारसंहिता के उल्लंघन, हितों के टकराव और बेजा फायदा पहुंचाने के नए आरोप लगे हैं। बैंक के बोर्ड ने इसकी स्वतंत्र जांच के आदेश दिए हैं। इसमें फॉरेंसिक ऑडिट भी शामिल है। इस बीच, चंदा छुट्टी पर हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com