विजय माल्या पर SEBI द्वारा लगाए नए प्रतिबंध

भगोड़े कारोबारी विजय माल्या पर प्रतिबंधों का शिकंजा और सख्त हो गया है

(एनएलएन मिडिया -न्यूज़ लाइव नाउ) : भगोड़े कारोबारी विजय माल्या पर प्रतिबंधों का शिकंजा और सख्त हो गया है। कैपिटल मार्केट रेगुलेटर सेबी ने माल्या पर नए प्रतिबंध लगा दिए हैं। मार्केट रेगुलेटर ने उसे तीन साल की अतिरिक्त अवधि के लिए शेयर बाजार से प्रतिबंधित कर दिया है। अगले पांच साल तक वह किसी लिस्टेड कंपनी का निदेशक भी नहीं बन सकेगा।सेबी ने यह कार्रवाई युनाइटेड स्पिरिट्स लिमिटेड (यूएसएल) में अवैध रूप से धन निकालने के मामले में की है। सेबी ने कंपनी के पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर अशोक कपूर और पूर्व सीएफओ पी.एस. मुरली पर एक साल के लिए प्रतिबंध लगाया है। सेबी ने जनवरी 2017 में अवैध रूप से धन निकालने के केस में अंतरिम आदेश जारी करके माल्या और कपूर व मुरली समेत कंपनी के छह पूर्व अधिकारियों को शेयर बाजार से प्रतिबंधित किया था। इस आदेश के अनुसार ये लोग शेयर बाजार में किसी तरह का लेनदेन नहीं कर सकेंगे।मार्केट रेगुलेटर से जारी नए आदेश में कहा गया है कि माल्या तीन साल तक शेयर बाजार से प्रतिबंधित रहेगा। वह किसी भी सूचीबद्ध कंपनी में निदेशक का पद भी नहीं ले सकेगा। माल्या ने यूएसएल के चेयरमैन व नॉन एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर के तौर पर फरवरी 2016 में इस्तीफा दिया था। यूएसएल का डियाजियो के साथ समझौता होने के बाद माल्या ने पद छोड़ा था। वह इस समय ब्रिटिश अदालत में फ्रॉड और मनी लांडिंग आरोपों पर केस लड़ रहा है। भारत सरकार माल्या का प्रत्यर्पण चाहती है ताकि कानूनी कार्रवाई की जा सके।सेबी ने आदेश में कपूर और मुरली को एक साल के लिए निदेशक पद लेने से प्रतिबंधित किया है। हालांकि चार अन्य अधिकारी एस. एन. प्रसाद, परमजीत सिंह गिल, आयनापुर एसआर और स्वामीनरायणन को लगा प्रतिबंध हटा लिया गया है। प्राइसवाटरहाउसकूपर्स की रिपोर्ट के अनुसार यूएसएल से माल्या के यूबी ग्रुप की दूसरी कंपनियों में 655.55 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com