AKSHAY TRITIYA 2018: सौभाग्य के लिए करें इन वस्तुओं का दान

(एन एल एन मीडिया-न्यूज़ लाइव नाऊ): भारत भर में अक्षय तृतीया का दिन बेहद खास माना गया है।  नवग्रहों की दशा के चलते अगर किसी व्यक्ति के विवाह का दिन नहीं निकल रहा हो तो इस दिन बिना मुहूर्त के उसका विवाह किया जा सकता है। इस दिन को दान का महापर्व भी माना जाता है। पुराणों के अनुसार इस दिन दान-धर्म करने वाले व्यक्ति को वैकुंठ धाम में जगह मिलती है।

आइए देखते है अक्षय तृतीया के दिन क्या दान करें :-

– नए कार्य शुरू करने के लिए इस तिथि को शुभ माना गया है।

– इस दिन भगवान विष्णु को सत्तू का भोग लगाया जाता है और प्रसाद में इसे ही बांटा जाता है।

– अक्षय तृतीया के दिन खास तौर पर तिल, जौ और चावल का दान का विशेष महत्व है।
– इस दिन बद्रीनाथ को अक्षय चावल चढ़ाने से मनुष्य की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।

– इस दिन जप, दान, होम तथा पितरों का श्राद्ध करने से अक्षय पुण्य फल प्राप्त होता है।

– मिट्टी या तांबे के दो घड़ों को जल से भरकर एक घड़े में अक्षत तथा दूसरे में तिल्ली डालकर इन घड़ों को ब्रह्मा, विष्णु, शिवस्वरूप में ही पूजा करके ब्राह्मणों को दान किया जाना चाहिए। ऐसा करने से हमारे पूर्वज तथा पितृ तृप्त होकर हमारी सारी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं।
– इस दिन गरीबों को चावल, नमक, घी, फल, वस्त्र, मिष्ठान्न आदि का दान करना चाहिए और व्रत रखना चाहिए। अक्षय तृतीयाके दिन गरीब, असहाय लोगों को भोजन अवश्य कराएं।
– इस दिन खरबूजा और मटकी का दान करने का भी महत्व है।
अक्षय तृतीया के दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व है। इस दिन स्नान करके जौ का हवन, जौ का दान, सत्तू को खाने से मनुष्य के सब पापों का नाश होता है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण की मूर्ति पर चंदन या इत्र का लेपन भी किया जाता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com