उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बगलामुखी मंदिर में देवी मां पीताम्बरा की शरण में

यही नहीं मां पीतांबरा को शत्रु नाश की अधिष्ठात्री देवी भी माना जाता है। यहां तक कि देश पर संकट आया तब भी यहां विशेष पूजा का महत्व माना जता है।

(एनएलएन मीडिया-न्यूज़ लाइव नाऊ): उत्तर प्रदेश सरकार इन दिनों उन्नाव रेप कांड को लेकर चौतरफा घिरी नजर आ रही है विपक्ष से लेकर तमाम संगठन सरकार पर तमाम आरोप मढ़ रहे हैं।  अमित शाह के लखनऊ दौरे में उनकी सरकार से नाखुशी की बातें सामने आई हैं।  इस बीच गुरुवार सुबह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी दतिया में पीतांबरा पीठ के दर्शन पहुंचे।  सीएम योगी ने बगलामुखी देवी की पूजा-अर्चना की। वैसे दतिया की पीतांबरा पीठ की राजनेताओं में खासी महत्ता रही है।  यही कारण है कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी से लेकर अटल बिहारी वाजपेयी, विजयाराजे सिंधिया से लेकर अमित शाह, राजनाथ सिंह भी यहां आकर विशेष अनुष्ठान कर चुके हैं। अमित शाह और राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश चुनावों से पहले यहां आए थे।  अब सीएम योगी का पीतांबरा पीठ जाना राजनीतिक हमलों से निपटने से जोड़कर देखा जा रहा है। दरअसल मां पीतांबरा को राजसत्ता की अधिष्ठात्री देवी माना जाता है।  इसी रूप में भक्त उनकी आराधना करते हैं।  राजसत्ता की कामना रखने वाले भक्त यहां आकर गुप्त पूजा अर्चना करते हैं।  यही नहीं मां पीतांबरा को शत्रु नाश की अधिष्ठात्री देवी भी माना जाता है। यहां तक कि देश पर संकट आया तब भी यहां विशेष पूजा का महत्व माना जता है।  कहा जाता है कि इससे देश पर आया संकट टल जाता है। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया, सिंधिया राजवंश की राजकुमारी होने की वजह से पीतांबारा शक्तिपीठ की ट्रस्टी हैं और उनका आना-जाना यहां बना ही रहता है।  इस सिद्धपीठ की स्थापना 1935 में यहां प्राचीन वनखंडेश्वर महादेव मंदिर में रहने वाले ब्रह्मचारी स्वामीजी ने कराई थी। मंदिर प्रांगण में स्थित वनखंडेश्वर महादेव शिवलिंग को महाभारत काल का बताया जाता है। कहा जाता है कि अज्ञातवास के दौरान पांडवों ने कुछ समय यहां बिताया था, उन्हीं ने इस शिवलिंग की स्थापना की थी।  ऐसा कहा जाता है कि प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कहने पर कारगिल युद्ध के दौरान यहां यज्ञ कराया गया था और भारत को जीत मिली थी। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 10 बजे चार्टर्ड प्लेन से दतिया पहुंचे। सीएम योगी के पहुंचते ही जिला प्रशासन के अधिकारी और बीजेपी नेताओं ने उनका स्वागत किया।  स्वागत के बाद योगी ने गुरुवार सुबह दतिया में बगलामुखी मंदिर में मां पीताम्बरा शक्तिपीठ के दर्शन किए।  यहां उनका मंदिर के कोषाध्यक्ष हरिराम सावला सम्मान भी करेंगे।  वहीं, शहर के समाजसेवी भांडेर से मोठ रोड को बनाने के लिए लोग उनको ज्ञापन भी सौंपेंगे। दर्शन के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने रवाना हो जाएंगे।  गौरतलब है उन्नाव रेप कांड पर सियासी बवाल के बीच दतिया के पीतांबरा पीठ दर्शन करने योगी आदित्यनाथ पहुंचे है।  इस मामले में दो दिन पहले मुख्यमंत्री योगी ने घटना दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा था कि दोषियों के साथ कोई रियायत नहीं करेगा, चाहे वे कितने भी ताकतवर क्यों न हों।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com