आई.एस.आई. से जुड़े 4 मॉड्यूल युवकों को किया पंजाब से गिरफ्तार

आरोपी ‘रिफ्रैंडम 2020’ के नाम से फेसबुक पेज पर एंटी नैशनल प्रॉपेगंडा फैला रहे थे।

(एनएलएन मीडिया-न्यूज़ लाइव नाऊ):काऊंटर इंटैलीजैंस की टीम ने आई.एस.आई. से जुड़े 4 मॉड्यूल युवकों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए युवकों की उम्र्र 21 साल से कम है जिन्हें मलेशिया में बैठी आई.एस.आई. की ट्रेंड लड़की दीप कौर ने अपनी ओर आकर्षित कर पैसों का लालच देकर पंजाब का माहौल बिगाडऩे के लिए कहा था। काऊंटर इंटैलीजैंस के ए.आई.जी. हरकंवलप्रीत सिंह खख ने बताया कि पकड़े गए आरोपी शहीद भगत सिंह नगर के गांव खान खाना बंगा का रहने वाला मनवीर सिंह (19), जसप्रीत सिंह उर्फ जस्सा (20), सुखविंद्र सिंह उर्फ सन्नी (19) व रणधीर उर्फ धीरा (17) है। जांच में यह बात सामने आई कि उक्त आरोपी ‘रिफ्रैंडम 2020’ के नाम से फेसबुक पेज पर एंटी नैशनल प्रॉपेगंडा फैला रहे थे।

आई.एस.आई. के इस मॉड्यूल ने फेसबुक पर एक पेज सिख युवक फतेह सिंह के नाम से बनाया है जिसे आई.एस.आई. की एजैंट दीप कौर उर्फ कुलवीर कौर चला रही है। उसने सोशल मीडिया पर ‘रिफ्रैंडम 2020’ के नाम से एक कैंपेन चलाई है। इसी कैंपेन के तहत पंजाब के नौजवान लड़कों को आकर्षित किया गया ताकि वे इन लड़कों के मार्फत माहौल बिगाड़ सके।
दीप कौर ने इन पंजाबी लड़कों को फेसबुक पर सन् 1984 के वक्त हुई घटनाओं के बारे भड़काकर उन्हें अपने गैंग में शामिल होने के लिए कहा था। साथ ही यह भी कहा था कि अगर वे उसके लिए काम करेंगे तो वह उन्हें कुछ दिनों में ही लखपति बना देगी। दीप कौर ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया था जिसमें एक्टीविटी के बारे में बताया जाता था। उसने व्हाट्सएप ग्रुप में बातचीत के बाद इन लड़कों को आई.एस.आई. के चीफ फतेह सिंह से मिलाया। इसके बाद फतेह सिंह ने उन्हें वाइन शॉप, पब्लिक ट्रांसपोर्ट के साधनों को तोडफ़ोड़ कर आसपास माहौल बिगाडऩे, सोशल मीडिया पर चल रही कैंपेन रिफ्रैंडम 2020 के आप्रेशन को बढ़ावा देने को कहा। फतेह सिंह से प्रेरित होकर इन युवकों ने शहीद भगत सिंह नगर में अलग-अलग जगहों पर खालिस्तान जिंदाबाद, खालिस्तान रिफ्रैंडम 2020 के भड़काऊ पोस्टर्स लगा दिए।
इंटैलीजैंस के पास इनपुट पहुंचने पर इन्हें बंगा रोड पर पड़ती एक वाइन शॉप में आग लगाने का प्रयास करते गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों के पास से 10 लीटर डीजल और अन्य सामान भी रिकवर हुआ है। इन्हें बाद में अदालत में पेश कर 4 दिन का रिमांड हासिल किया गया है। आरोपियों ने जांच में यह भी कबूला कि उन्होंने कैंपेन खालिस्तान जिंदाबाद, खालिस्तान रिफ्रैंडम 2020 के पोस्टर मोहाली में होने वाले आई.पी.एल. क्रिकेट मैच दौरान भी बांटने थे ताकि इंटरनैशनल मीडिया आकर्षित हो सके।
मनवीर है गुरुद्वारा साहिब में पाठी और उसे एक पाठ करने के मिलते हैं 1,000 रुपए
मनवीर सिंह ने जांच में कबूला कि वह पहले मजदूरी करता था। मगर साल 2016 में उसने केशगढ़ साहिब में अमृत छक लिया। इसके बाद वह चोपड़ा क्लॉथ हाऊस में काम करने लगा। जहां से उसे 3,000 रुपए मासिक मिलते थे। उनसे बताया कि वह करीब 6 बार अपनी जॉब बदलने के बाद आखिर में गुरुद्वारा साहिब गांव खान खाना में हैड ग्रंथी बलजीत सिंह के साथ पोथी साहिब का पाठ करने लगा। उसे एक पाठ के 1,000 रुपए मिलते थे।
वैस्टर्न यूनियन के मार्फत दीप कौर ने भेजे 70,000 रुपए
एक बाइक खरीदी व बाकी पैसे गुरु खालसा को हथियार उपलब्ध करवाने के लिए दिए मनवीर सिंह ने जांच में बताया कि दीप कौर ने उन्हें कुछ दिन पहले वैस्टर्न यूनियन के मार्फत 70,000 रुपए भेजे थे। इस राशि से उन्होंने एक बाइक खरीदी थी और बाकी पैसे उन्होंने अमृतसर के गुरु खालसा नामक शख्स को हथियार मुहैया कराने के लिए दिए थे। अब वह हथियार की कंसाइनमैंट आने का इंतजार कर रहे थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com