हिमाचल प्रदेश: सरकार ने धूमल और अनुराग के ख़िलाफ़ दायर मामले वापिस लेने का निर्णय लिया।

HPCA ने राज्य सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है।

(न्यूज़ लाइव नाऊ) हिमाचल प्रदेश: सरकार ने पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा दायर किये गये ‘राजनीति से प्रेरित’ सभी मामलों को वापस लेने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के इस फैसले से जिन्हें तुरंत लाभ पहुंचा है वह हैं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता प्रेम कुमार धूमल और उनके बेटे अनुराग ठाकुर। राज्य सरकार जिन केस को वापस ले रही है उनमें हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (HPCA) से जुड़े सभी पांच मामले भी शामिल हैं। अनुराग ठाकुर HPCA के अध्यक्ष हैं। HPCA में कथित तौर पर करप्शन का मामला हिमाचल की राजनीति में काफी उछला था। 2012 में जब कांग्रेस की सरकार सत्ता में आई थी तो तत्कालीन सीएम वीरभद्र सिंह ने सतर्कता और राज्य की भ्रष्टाचार निरोधी शाखा को HPCA की गतिविधियों और धर्मशाला में क्रिकेट स्टेडियम बनाने के लिए लीज पर दी गई जमीन के मामले की जांच के आदेश दिये थे। HPCA के खिलाफ पहला एफआईआर अगस्त 2013 में दायर किया गया था। इसमें, धोखाधड़ी, फंड के हेरफेर और फ्रॉड का आरोप लगाया गया था। राजनीतिक रूप से संवेदनशील इस एफआईआई में 18 लोगों का नाम दायर किया गया था। इसमें HPCA अध्यक्ष अनुराग ठाकुर, प्रेम कुमार धूमल,HPCA के अधिकारी, और 8 सर्विंग और रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट के नाम शामिल थे। साल 2013 में ही HPCA के खिलाफ 2 और एफआईआर दायर किये गये। एफआईआर में इनके खिलाफ आरोप लगाया गया कि HPCA ने अवैध रूप से एक रजिस्टर्ड सोसायटी को कंपनी में बदल दिया गया था। यहां पर प्रेम कुमार धूमल की तत्कालीन सरकार ने क्रिकेट स्टेडियम, पैवेलियन, लग्जरी रिसोर्ट बनाने के लिए जमीन आवंटित किया था। अक्टूबर 2013 में वीरभद्र कैबिनेट ने क्रिकेट स्टेडियम का लीज कैंसिल करने का फैसला लिया और आदेश दिया कि सभी संपत्तियों पर सरकार कब्जा करे। हालांकि हाईकोर्ट ने HPCA की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए इस पर रोक लगा दी। HPCA ने राज्य सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। HPCA के प्रवक्ता संजय शर्मा ने कहा, ‘कुल 5 केस दायर किये गये थे, इसका मकसद ही अनुराग ठाकुर, प्रेम कुमार धूमल, सरकारी अधिकारियों और HPCA के अधिकारियों को टारगेट करना था, ये स्पष्ट रूप से बदले की भावना से की गई कार्रवाई थी।’ वहीं कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी इस बारे में विचार अपनी प्रतिक्रिया देगी। कांग्रेस विधायक दल के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा,’हम इस घटनाक्रम पर अपने विधायकों और पूर्व सीएम वीरभद्र के साथ बात करेंगे, इसके बाद सदन में प्रतिक्रिया देंगे।’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com