‘दैनिक भास्कर’ पर हिन्दू विरोधी पत्रकारिता का आरोप,सोशल मीडिया में भी ट्रोल।

'दैनिक भास्कर' पर हिन्दू विरोधी पत्रकारिता का आरोप,सोशल मीडिया में भी ट्रोल।

(न्यूज़ लाइव नाऊ) ‘दैनिक भास्कर लखनऊ’ एडिशन में जब बाबा के नाम से एक मदरसे के संचालक की ख़बर लगी तो बहुत से हिन्दू संगठनों ने इसका विरोध किया। नए साल की शुरुआत में ही ‘दैनिक भास्कर’ को सोशल मीडिया में भी ट्रोल होना पड़ रहा है। ‘दैनिक भास्कर’ पर आरोप ये है कि मुस्लिम आपराधिक व्यक्ति को ‘बाबा’ क्यों कहा गया है? क्योंकि आरोप है कि ‘बाबा’ शब्द हिन्दू ‘संतों’ का प्रतिनिधित्व करता है। कुछ लोगों ने कहा कि ‘दैनिक भास्कर’ पैसे बचाने के लिए अनपढ़ पत्रकारों को भर्ती करेगा तो वो ऐसा ही करेंगे। जिनको ये नहीं पता कि बाबा हिन्दू होते हैं और मौलाना मुस्लिम ऐसे लोग कैसे पत्रकारिता करते हैं। एक स्लाइड के ज़रिये, जिसमें ‘अमर उजाला’ में छपी इसी खबर को सही क़रार देते हुए, दोनों समाचार पत्रों की तुलना की गई है। देखिये सोशल मीडिया में क्या लिखा जा रहा है।

-मदरसे में “बाबा” वाली न्यूज़ दैनिक भास्कर लखनऊ ने छापी है …. लखनऊ भास्कर कार्यालय के नंबर 755-398-8884 है …. लखनऊ भास्कर वाले दल्लों का ऐसा विरोध होना चाहिए कि …. दुबारा कोई दल्ला अखबार ऐसी हिमाकत करने से पहले हज़ार वार सोचे !!!! ….

-अपने अपने क्षेत्र/प्रदेश के भास्कर मुख्यालयों पर भी विरोध दर्ज करावें !!!! ….

-किसी सनातनी बाबा अगर कोई गलत कार्य कर दे तो मीडिया 24×7 बाबा की जड़ में घुस जाता है…. अब यह सब मदरसों में हो रहा है…. मौलवी कर रहे है… अब सबके मुंह में दही जमा हुआ है…. क्यों…. पता है क्यो????

-क्योंकि अधिकतर मीडिया चैनल या तो बामपंथी, सेकुलर है या किसी मुस्लिम संस्था के हाथ की कठपुतली…!!

-टीवी पर आप सब ने देखा होगा कि किसी मौलवी से अगर ‘मदरसा’ का नाम ले लो तो बंदरो की भांति उछलना शुरू कर देता है और् हमारे सनातनी है कि कोई बाबा कुछ गलत करता दिखाई दे जाए तो खुद ही पोस्ट को वाइरल करने में पूरी ताकत लगा देते है!!😢

प्रथा बदलनी चाहिये… पता नही कैसे कोई अपनी ही माँ को डायन बता सकता है?
सोचे अवश्य….🙏

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com