असम के स्वास्थ्य मंत्री का बीमारियों को बताया दैवीय, कहा : पाप से होता है कैंसर

गुवाहाटी: असम के स्वास्थ्य मंत्री ने कैंसर जैसी घातक बीमारियों को लेकर एक ऐसा बयान दिया है जिससे वो सुर्ख़ियों में आ गए हैं. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि पूर्व में किए गुनाहों के कारण लोगों को कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियां झेलनी पड़ती हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने इसे दैवीय न्याय करार दिया। स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा के इस बयान पर चारों तरफ से तीखी प्रतिक्रियाएं सामने आई हैं।

एक कार्यक्रम में सूबे के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने कहा, ‘जब हम पाप करते हैं तो भगवान हमें उसकी सजा देता है। कई बार इस तरह की खबरें सामने आती हैं कि किसी युवा को कैंसर हो गया या फिर कोई दुर्घटना का शिकार हो गया। अगर हम इन कारणों के पीछे जाएंगे तो पाएंगे कि दैवीय न्याय के कारण ऐसा हुआ है।’

अध्यापकों को नियुक्ति पत्र देने के लिए आयोजित कार्यक्रम में मंत्री ने कहा, ‘कोई जरूरी नहीं है कि यह गलती हम खुद करें। कई बार संभव है कि शायद मेरे माता-पिता कोई गलती करें। कोई भी गलती करेगा तो दैवीय न्याय से बचा नहीं जा सकता। उसका परिणाम भुगतना पड़ता है। गीता और बाइबल में भी इसका जिक्र है कि हर क्रिया की एक प्रतिक्रिया होती है।’

स्वास्थ्य मंत्री के इस अजीबोगरीब बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेसी नेता देबब्रत सैकिया ने ‘स्वास्थ्य मंत्री का इस बयान की निंदा की है। उधर, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) के नेता अमीनुल इस्लाम ने कहा कि सरकार कैंसर जैसी बीमारियों पर रोकथाम में फेल रही है।

उधर, कैंसर पीड़ित मरीजों ने भी स्वास्थ्य मंत्री के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। मरीजों ने कहा कि यह बहुद दुखद है कि राज्य के स्वास्थ्य मंत्री उन बीमारियों के बारे में इस तरह का बयान दे रहे हैं जिनके कारण वैज्ञानिक रूप से स्पष्ट हैं।

स्वास्थ्य मंत्री के इस बयान की कुछ लोग नींद कर रहे हैं वही कुछ लोगों ने इस बात को अध्यात्मिक नजरिये से सही बताया है. खैर कुछ भी हो हमे कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से बचने के लिए बैज्ञानिक उपायों के सहारे से बचने की जरुरत है.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com