पत्थर मारने की घटना पर ऑस्ट्रेलियन टीम को फैंस ने कहा ‘सॉरी’

नई दिल्ली/गुवाहाटी: मंगलवार को गुवाहाटी में मैच के बाद स्टेडियम से होटल लौट रही ऑस्ट्रेलियाई टीम की बस पर पत्थर से हमला हुआ था. जिसके बाद इस घटना के खिलाफ पूरे देश से कड़ी आलोचना हुई. अब इस घटना के बाद कुछ क्रिकेट फैंस ने ऑस्ट्रेलियाई टीम होटल के पास जाकर उनसे माफी मांगी है. 

गुवाहाटी के कुछ क्रिकेट फैंस माफी लिखी हुई तख्ती के साथ टीम होटल के बाहर खड़े हुए और ऑस्ट्रेलियाई टीम से इस घटना के लिए माफी भी मांगी. गुवाहाटी में भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरे टी-20 मैच के बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी होटल लौट रहे थे. उसी वक्त पत्थर से बस पर हमला हुआ जिससे बस के शीशे टूट गए. इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हराया था. जिसके बाद ये घटना हुई.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुताबिक, ‘बुसारापा स्टेडियम से होटल लौटते वक्त रास्ते में किसी ने क्रिकेट बॉल के साइज़ का पत्थर बस के ऊपर फेंका. जिससे खिड़की का कांच बुरी तरह से टूट गया था. हालांकि उस सीट पर कोई भी खिलाड़ी या स्टाफ बैठा नहीं था. जिससे किसी भी तरह का नुकसान होने से बच सका.’

इस घटना के तुरंत बाद ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज एरॉन फिंच ने ट्वीट किया, ट्वीट के साथ फिंच ने लिखा, ”होटल जाते समय रास्ते में टीम बस की खिड़की पर पत्थर फेंका गया. ये बहुत डरावना था.”

ऑस्ट्रेलियाई स्टार स्पिनर एडम ज़म्पा ने इस पूरी घटना को विस्तार से बताते हुए कहा कि ‘मैं अपने कानों में हेडफोन लगाकर तेज़ आवाज़ में गाने सुनते हुए दूसरी तरफ बस को देख रहा था, तभी एक ज़ोर से आवाज़ आई. पांच सेकिंड के लिए हम सब घबरा गए, ये बेहद डरावना था. हमारे सिक्योरिटी गॉर्ड ने तुरंत हमें बताया कि ये एक पत्थर है. आप कभी भी नहीं चाहते कि इस तरह की घटनाएं हों, ये बेहद निराशाजनक है.’

इतना ही नहीं इस पूरी घटना के बाद ज़म्पा ने कहा, ‘भारत में क्रिकेट को लेकर एक अलग ही जुनून है, इसलिए यहां पर ट्रेवल कर पाना बेहद मुश्किल हो जाता है. हालांकि एक पत्थर की घटना यहां के ज्यादातर फैंस का मूड नहीं दर्शाती है.’

हालांकि इसके बाद ऑस्ट्रेलियाई स्टार बल्लेबाज़ मोएसिज़ ऑनरिकेज़ ने भी एक ट्वीट कर कहा, ‘खैर बस के साथ जो हुआ वो नहीं होना चाहिए थे, लेकिन इस घटना के बाद आज असम में फैंस और बच्चों से जो प्यार मिला वो बेहद शानदार है.’

गुवाहाटी में सात साल बाद कोई मैच हुआ था. इससे पहले साल 2000 में मैच खेला गया था. सात साल बाद हुए मैच में टीम इंडिया के फैंस बेहद नाराज थे. इन्हीं नाराज फैंस में से किसी ने ऑस्ट्रेलियाई टीम बस पर हमला कर दिया.

इस घटना के बाद खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने भी खिलाड़ियों की सुरक्षा को महत्वपूर्ण बताया था.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.